अस्थमा को जड़ से ख़त्म करने का इलाज – Asthma ka Ilaj

अस्थमा ट्रीटमेंट इन आयुर्वेद: हमारे देश में स्वांस संबंधी बीमारी कई बीमारी होने लगी जिसमें अस्थमा या दमा सबसे ज्यादा होने वाली बीमारी में से एक है और भारत में अस्थमा के मरीजों की संख्या दिन ब दिन बढ़ती जा रही है अस्थमा के कारण कई लोगों का खास खास कर बहुत बुरा हाल हो चुका है अस्थमा होने का मुख्य कारण किसी चीज से एलर्जी होना है. और ये बीमारी हर उम्र के लोगो में देखी जाती है चाहे वे बुजुर्ग हो बच्चे ये किसी को भी सकती है. और इसके अलावा भी इसके कई कारण हो सकते हैं जैसे हवा में प्रदूषण, अस्थमा दमा जैसी बीमारियों को जन्म देता है.

हमारे वातावरण में दिन-ब-दिन कई प्रकार के बदलाव होते हैं जैसे अचानक बादल आना, मौसम का ठंडा हो जाना बहुत तेज गर्मी पड़ना, आदि और मानसिक उत्तेजना के कारण भी अस्थमा का रोग होता है ज्यादा कसरत और व्यायाम करने से गहरी सांस लेते हैं और इस के कारण अस्थमा क रोग होता है. एवं घर में मौजूद प्रदूषण जैसे कपड़े धोने के साबुन से एलेर्जी, भोज्य पदार्थ जैसे दूध, मछली,अंडा,टमाटर आदि से एलेर्जी, मिलावटी खाना, और घर के पालतू जानवर के संपर्क में आने से स्वांस सम्बन्धी बीमारियां होती है.

अस्थमा का अटैक क्यों आता है जानने के लिए आगे जाएँ 

अगले पेज जाने के लिए NEXT बटन पर क्लिक करें