एक वयस्क को प्रतिदिन कितने आहार लेने चाहिए? – Daily Food Tips

हर कोई व्यक्ति अपने आप को स्वस्थ और फिट रखना चाहता है लेकिन पार्यप्त भोजन और पर्याप्त आराम न मिल पाने के कारण व्यक्ति बहुत ही कमजोर और बीमार दिखने लगता है. इसलिए एक वयस्क को अपने खाने में रोज़ कितने आहार लेने चाहिए ?आपके अनुसार एक वयस्क को स्वस्थ रहने और वज़न न बढ़ने के हिसाब से दिन में कितना आहार लेना चाहिए? केवल 3 या अधिक? आम तौर पर लोग आपको सलाह देते हैं कि बहुत अधिक खाने से केवल आपका वज़न बढ़ता है. सही है, परन्तु हम क्या खाते हैं और कब खाते हैं.इस बात का निश्चित रूप से बहुत अधिक प्रभाव पड़ता है. एक वयस्क को प्रतिदिन कितने आहार लेने चाहिए?

 एक वयस्क को प्रतिदिन कितने आहार लेने चाहिए? 

बहुत अधिक भारी खाना खाना और फिर बहुत देर तक भूखे रहना, इससे आपको अधिक भूख लगती है और अधिक खाना खाने की इच्छा होती है. सभी लोग अपनी मनपंसद काम करना चाहते है और खासकर के युवा यानि वयस्क व्यक्ति ज्यादा तर अपने मन के अनुसार काम करते है. उन्हें किसी की रोकटोक पसंद नहीं होती है इसलिए व्यस्को को अपना खानपान का उचित ध्यान रखना चाहिए. कई बार देखा जाता है लोग अक्सर अपने खाने पीने को लेकर लापरवाही बरतते है और इसी वजह से कमजोरी बनी रहती है और यदि वो खाना ठीक तरीके से खाता है तो कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए जैसे कि ब्रेकफास्ट करने से वज़न कम होता है. परन्तु क्या कभी हमने ऐसा करने से होने वाले दुष्परिणामों के बारे में सोचा है? ब्रेकफास्ट बहुत आवश्यक होता है क्योंकि बहुत देर तक नींद के बाद आपका पेट खाली होता है और इसे खाने की आवश्यकता होती है.

व्यस्क व्यक्ति को कम दिन में एक बार तो ब्रेकफास्ट करना चाहिए और ब्रेकफास्ट न करने से एसिडिटी, गैस्ट्रिक की समस्या और अनावश्यक वज़न बढ़ना जैसी समस्याएं हो सकती हैं. ब्रेकफास्ट करने से कई फायदे होते है और कई मामलों में मोटापे का एक कारण यह भी होता है. यही कारण है कि आहार विशेषज्ञ पोषक और भारी ब्रेकफास्ट करने की सलाह देते हैं. क्योंकि  7-8 घंटे की नींद के बाद आपको विभिन्न गतिविधियों के लिए उर्जा की आवश्यकता होती है जो खाद्य पदार्थों से ही मिलती है. जैसा कि आम तौर पर कहा जाता है “ब्रेकफास्ट राजा की तरह करें, दोपहर का भोजन राजकुमार की तरह और रात का खाना भिक्षुक की तरह.” प्रत्येक भोजन के दौरान भोजन की मात्रा को नियंत्रित करना बहुत महत्वपूर्ण है.

एक वयस्क को प्रतिदिन कितने आहार लेने चाहिए? और कब लेना चाहिए ये जानें

अनेक अध्ययनों से यह राज़ पता चला है कि मोटापे को दूर करने के लिए रात में कम कैलोरी वाले भोजन का सेवन करें.इसका मतलब ये नहीं कि केवल ब्रेकफास्ट करने से आपका वज़न कम होगा. इससे केवल मोटापे का खतरा मिट जाता है. अंडे के जर्दी के फायदे यह आप पर निर्भर करता है कि आप 3 लार्ज मील लें या 6 स्मॉल मील अर्थात दिन में तीन बार भारी खाना या दिन में 6 बार थोडा थोडा खाना. और आपको इन सब चीजों के सेवन की आदत डाल लेनी चाहिए.  आपके द्वारा प्रतिदिन सेवन की जाने वाली कैलोरीज़ की मात्रा महत्वपूर्ण होती है. यदि आप दिन में थोड़ी थोड़ी देर में 6-7 बार खाना खाना पसंद करते हैं तो वैसा करें या दिन में 6 बार थोडा थोडा खाने से आप असंतुष्ट या भूखा महसूस करते हैं तो दिन में काम से कम तीन बार ज्यादा ज्यादा भोजन लें.

और आप gym लगते समय ज्यादा से ज्यादा कैलोरीस को बर्न कर पाएंगे. आप कितनी कैलोरीज़ का सेवन कर रहे हैं इस बात का ध्यान रखें. बहुत कम लोगो को इसकी जानकारी होती है एक वयस्क को प्रतिदिन कितने आहार लेने चाहिए? और आहार में क्या क्या लेना चाहिए. अनावश्यक कैलोरीज़ को बर्न करने के लिए उचित वर्कआउट की आवश्यकता होती है. आप वर्कआउट करने के पहले और बाद में क्या खाते हैं उसका असर आपकी रिकवरी की प्रक्रिया और मांसपेशियों की बनावट, ताकत और प्रदर्शन में सुधार आदि पर पड़ता है.सबसे अहम है कि आप प्रतिदिन कैलोरीज़, प्रोटीन, फैट और कार्बोहाइड्रेट का सेवन सही मात्रा में करें और इन पोषक तत्वों का स्त्रोत उच्च गुणवत्ता वाले खाद्य पदार्थ हों. दिन भर में 6 बार थोडा थोडा स्वस्थ आहार लेते रहें.  इससे आपकी पाचन शक्ति की दर बढ़ती है, आपको भूख कम लगती है और ब्लड शुगर भी नियंत्रित रहती है.

और भी कई तरह की बीमारिया भी दूर हो जाती है. खाने के लिए आदर्श समय: अध्ययनों से यह साबित हुआ है कि ब्रेकफास्ट के लिए आदर्श समय सुबह 7-8 के बीच, दोपहर के खाने का समय 12 से 1 के बीच और रात के खाने का समय शाम 6:30 से 7:30 के बीच होता है.हर किसी के मन ये सवाल आता है कि एक वयस्क को प्रतिदिन कितने आहार लेने चाहिए? इसके बीच में आप कुछ हलके स्नैक्स ले सकते हैं। वे लोग जो अपना वज़न कम करना चाहते हैं उनके लिए बताये गए समय पर खाना खाना बहुत महत्वपूर्ण है. पोषण संबंधी सलाह: मिश्रित आहार लें जिसमें शरीर के लिए आवश्यक सभी पोषक तत्व हों. भूख को दूर करने के लिए स्मोकिंग (धूम्रपान) या अल्कोहल (शराब) का सहारा न लें.हो सके तो फल और सब्जियों का सेवन करें. यदि आपको मीठा पसंद है और आपको डाइबिटीज़ नहीं है तो आप कभी कभी चॉकलेट केक या आइसक्रीम भी खा सकते हैं.

शुगर के कारण डाइबिटीज़ नहीं होता परन्तु इन चीज़ों से मिलने वाली अतिरिक्त कैलोरीज़ के कारण मोटापा बढ़ता है जिससे शुगर होने की संभावना होती है. इसके अलावा जब आप तनाव में होते हैं तो आपको मीठा अधिक खाने की इच्छा होती है क्योंकि इन खाद्य पदार्थों में मूड को अच्छा करने वाले यौगिक पाए जाते हैं.ताज़े फल और सब्जियां मूल रूप में या सलाद के रूप में खाना फायदेमंद होता है. ऐसा मन जाता है कि फल को खाली पेट ही खाना चाहिए क्योंकि यदि इसे किसी अन्य खाद्य पदार्थ के साथ खाया जाए तो यह पेट में सड़ने लगता है जिससे अपचन प्रभावित होता है. यह पूर्ण रूप से गलत है.हर किसी के मन ये सवाल आता है कि एक वयस्क को प्रतिदिन कितने आहार लेने चाहिए?

क्या प्रतिदिन के आहार में अल्कोहल को शामिल करना अच्छा है? कुछ लोग ऐसा मानते हैं कि प्रतिदिन एक गिलास वाइन पीना स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है. प्रतिदिन अल्कोहल का सेवन करने से आपका लिवर खराब हो सकता है। विशेष रूप से महिलाओं में, प्रतिदिन अल्कोहल का सेवन करने से उनमें ब्रेस्ट कैंसर होने की संभावना उन महिलाओं की तुलना में अधिक होती है जो अल्कोहल का बिलकुल भी सेवन नहीं करती, पॉलिफेनोल्स डार्क चॉकलेट, चाय, अनार और ब्लूबेरी में पाए जाते हैं। आप सीमित मात्रा में दूध, अंडे, फिश और मांस का सेवन भी कर सकते हैं। किसी भी चीज़ की अति नुकसानदायक होती है. हम सभी सोचते हैं कि फिश में अच्छा फैट पाया जाता है अत: इन पदार्थों का सेवन सीमित मात्रा में करें.