घर में कोई डायबिटीज का रोगी है तो भूल कर भी न खाएं ये फल

डायबिटीज के रोग कौन सा फल न खाएं :- यदि आप के घर में कोई डायबिटीज का रोगी है तो आपको कुछ तरह के फलों का सेवन नहीं करना चाहिए.ऐसा होता है कि परिवार में कोई इस मधुमेह है तो हम आपको को बताना चाहते है की बाजार में ऐसे कई सारे फल होते है जिन्हे डाइबटीज के रोगियों को नहीं खाना चाहिए. और ऐसा क्यों करना चाहिए ये जानने के लिए आपको इस पोस्ट को पूरा पढ़ना पढ़ेगा.

मधुमेह एक बहुत घातक और गंभीर बीमारी है, जिसके कारण रोगी धीरे – धीरे मौत की और बढ़ता है.और इस बीमारी को (साइलेंट किलर ) भी कहा जाता है.और ये बीमारी टाबोलिज्म में खराबी के कारण पैदा होती है.और हमारे देश भारत में आज के समय में मधुमेह काफी तेज़ी से फ़ैल रही है. साथ और ये बीमारी पीढ़ी दर पीढ़ी फैलती जा रही है. जो की बहुत ज्यादा खतरनाक है.

अगर आप इस बीमारी छुटकारा पाना चाहते है तो आपके खानपान बदले क्योंकि लगभग हर एक बीमारी हमारे द्वारा खाये भोजन से ही फैलती है . इसके लिए अपनी दिनचर्या में थोड़ा सा बदलाव और थोड़ा खान पान पर ध्यान देना होगा. और लापरवाही के कारण आपको कई के परिणाम स्वरुप उत्पन्न होता है इसे शरीर के चयापचय से संबंधित एक रोग के रूप में जाना जाता है जो अग्नाशय में स्थित विशेष लैंगरहैंस द्विपिकाओं द्वारा एक विशिष्ट हार्मोन इन्सुलिन का पर्याप्त मात्रा में निर्माण न कर पाने के कारण होता है.

डायबिटीज दो  प्रकार के लेवल पर होता है  टाइप 1 इस प्रकार के डायबिटीज में पैन्क्रियाज की बीटा कोशिकाएं पूरी तरह से नष्ट हो जाती हैं जिससे शरीर में इंसु‍लिन बनना बंद हो जाती है. पूरी दुनिया में इस तरह के रोगी सिर्फ 10% हैं. टाइप 2 टाइप 2 मधुमेह से ग्रस्‍त लोगों का ब्लड शुगर का स्‍तर बहुत ज्यादा बढ़ जाता है जिसको नियंत्रण करना बहुत मुश्किल होता है. टाइप 2 मधुमेह के रोगी दुनिया भर में सबसे ज्यादा मिलेंगे.

यदि आपको कुछ ऐसी समस्या होते है जैसे तुतलाना, हकलाना, इसके लिए थाइरॉइड का पक्का इलाज यही है आप केला 100 ग्राम ले और केले में लगभग 12 ग्राम चीनी होती है. इसी तरह एक मध्यम आकार के केले में लगभग 30 ग्राम चीनी और कार्बोहाइड्रेट होता है. जिसे खाने से आपका ब्लड शुगर लेवल बढ़ सकता है. और आपको मधुमेह के रोग में आराम के बजह और ज्यादा रोग बढ़ जायेगा.

तरबूज एक बढ़ा और सबसे ज्यादा रसीला होता है लेकिन ज्यादा मीठा नहीं होता है. और यह अन्य फलों की तुलना में कम  मीठा होता है. क्योंकि इसमें 100 ग्रा के तरबूज में केवल 6 ग्राम चीनी होती है। यही नहीं तरबूज के आकार से भी फर्क पड़ता है। क्योंकि एक तरबूज़ में लगभग 50 ग्राम चीनी ही होती है। तो अगर इसे कम मात्रा में खाया जाए तो इससे कोई नुक्सान नहीं होगा. गर्मियों में हीट स्‍ट्रोक से बचने के लिये पिएं.

आम खाना आपके लिए खतरनाक हो सकता है यदि आपको मधुमेह है 100 ग्राम आम में लगभग 14 ग्राम चीनी होती है, यही नहीं एक आम में लगभग 30-35 ग्राम चीनी होती है. क्योंकि आम मीठा फल होता है इसीलिए इसमें चीनी की मात्रा भी अधिक होती है. जिसे खाना मधुमेह के रोगियों के लिए हानिकारक और जानलेवा हो सकता है.

अनानास अनानास एक खट्टा फल है, लेकिन ये भी आपके लिए बहुत ही ज्यादा खतरनाक हो सकते है क्योंकि इसमें भी 100 ग्राम अनानास में लगभग 10 ग्राम चीनी होती है. इसीलिए मधुमेह के रोगियों को यह नहीं खाना चाहिए. अंगूर अंगूर खट्टे और मीठे दोनों ही पाए जाते हैं. ये इतने स्वादिष्ट होते हैं की कोई इन्हे खाये बगैर रहे ही नहीं सकते है, फिर चाहे इसे दही के साथ खाये या किसी और चीज़ में. इस फल के हर 100 ग्राम में लगभग 16 ग्राम चीनी होती है. इसीलिए इसे जितना भी हो सके कम ही खाएं.

नाशपाती 100 ग्राम नाशपाती में 10 ग्राम चीनी होती है. वैसे तो इसमें पानी और पोषण तत्व अच्छी मात्रा में पाया जाता है। लेकिन चीनी की मात्रा ज्यादा होने के कारण मधुमेह के रोगियों के लिए यह नुक्सान देह है. स्ट्रॉबेरीज खाने में बहुत स्वादिष्ट और रसीली लगती हैं, यही नहीं इसके 100 ग्राम स्ट्रॉबेरीज में सिर्फ 5 ग्राम चीनी होती है। जो वैसे तो बहुत कम है. लेकिन अगर इसे जरुरत से ज्यादा खाया जाए तो यह ब्लड शुगर लेवल को बढ़ा सकती है.