घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करें – Ghar Par Pragenacy Test Kaise Karen

घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करें :-होम प्रेगनेंसी किट महिलाओं के मूत्र में HCG (ह्यूमन कोरिओनिक गोनाडोट्रोपिन) हार्मोन की उपस्थिति का पता लगा कर काम करता है. जिसके द्वारा ये पता लगाया जाता है कि महिला प्रेगनेंट है या नहीं , और प्रेगनेंट पाये जाने का कारण HCG हार्मोन होता है. होम प्रेगनेंसी किट या घर पर प्रैगनैंसी जांचने का यंत्र होता है जो कि ज्यादातर मेडिकल स्टोर और ऑनलाइन उपलब्ध होती है. और इस जांच को इस्तेमाल करने कुछ विधि है जिन्हे जानकार आप और उन विधियों का पालन करके आप पता लगा सकती है कि घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करें, आप प्रेगनेंट है या नहीं.

घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करें

इसको इस्तेमाल करें की पहली विधि यही है की आप सबसे पहले एक प्रेग्नेंसी टेस्ट किट खरीदिए और इसे खरीदने से पहले कुछ बातों का ध्यान रखें. क्योंकि बाजार में कई ब्रांड की होम प्रेगनेंसी किट उपलब्ध है, और आप कौन सी चुनते है इससे कोई बड़ा अंतर नहीं पड़ता क्योंकि लगभग सभी किट एक ही तरह से काम करती हैं. लेकिन इसकी एक्सपायरी डेट जरूर चेक कर और जांच ले की जांच कर ले कि इस किट में कोई टूट-फूट न हुई हो क्योकि इस से जांच के परिणाम पर प्रभाव पड़ सकता है. और वो किट ठीक तरह से परिणाम नहीं देगा. यदि आप पहली बार जांच कर रही है तो आप ऐसे ब्रांड पर गौर करे जो दो स्टिकस उपलब्ध कराये, विशेषकर जब आप शुरूआती समय में जांच करने जा रहे हों. इस से आप एक हफ्ते इन्तजार करके दोबारा प्रयत्न कर सकते है, यदि आपको पहले प्रयत्न में परिणाम नकारात्मक आये हो.

कुछ ब्रांड्स आपके मासिकधर्म न आने वाले दिन पर ही या उससे भी पहले गर्भावस्था की एकदम सही स्थिति बताने का दावा करते है. लेकिन ये सही है क्योंकि इसकी जांच इतनी संवेदनशील हो की वह आपके मूत्र में उपस्थित HCG हार्मोन के उच्च स्तर का पता लगा ले, परन्तु आपके शरीर के लिए उच्च स्तर पर इस हार्मोन के निर्माण हेतु यह अधिक जल्दी भी हो सकता है. ऐसे मामले में, आप जांच के नकारात्मक परिणाम प्राप्त करने के जोखिम की स्थिति में होंगे, जबकि संभव है की आप गर्भ से हों सकती है. इसलिए इसका इस्तेमाल बढे ही ध्यान पूर्वक तरीके से करें और हो सके तो घबराएं नहीं क्योंकि ये किसी भी महिला के साथ हो सकता है.

यदि आप जांच कर रही है तो आप उस जांच का सही समय पता करे की जांच कब और किस तरह से करनी है , ज्यादातर विशेषज्ञ गर्भावस्था जांच के लिए मासिकधर्म न होने पर एक दिन रुकने की सलाह देते है, वैसे एक सप्ताह यानी लगभग साथ दिनों तक इन्तजार करती है तो ये आपके लिए सबसे बेहतर होगा. अगर आप अपनी गर्भावस्था का पता लगाने के लिए व्यग्र है तो यह कठिन हो सकता है, पर इन्तजार करने से आपकी जांच अधिक सटीक होने की सम्भावना बन जाती है, क्योंकि गर्भावस्था के दौरान महिलाओ में HCG हार्मोन का स्तर बहुत तेजी से बढ़ता है. इसीलिए ये आपके लिए मुश्किलभरा नहीं होगा और आप आसानी से घर पर ही प्रेग्नन्सी का पता लगा सकती है.ज्यादातर महिलाये सोचती है कि घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करें.

सबसे अच्छा है कि आप गर्भावस्था की जांच का टेस्ट सुबह के समय सबसे पहले करें, क्योकि इस समय आपका मूत्र सबसे अधिक गाड़ा या सकेंद्रित होता है. इसकी वजह प्रेग्नन्सी का टेस्ट करना बहुत ही आसान होता है, और इससे आपका रिजल्ट बहुत सठिक आता है.यदि आप पहली बार टेस्ट कर रही है तो आपके इसकी विधि को बहुत ही ध्यान से पढ़ना चाहिए वैसे तो ज्यादातर यूरिन टेस्ट एक जैसे होते है, पर दवा बनाने वाले के अनुदेशों को पढ़ना बहुत ही जरूरी हो जाता है  हर गर्भावस्था जांच में दिए गए विवरण जैसे की मूत्र एकत्र करना, समय जब तक आप उस स्टिक पर मूत्र गिराएंगे, और वो संकेत जो आपके गर्भस्थ होने के हाँ या न के परिणाम लायेंगे. और आप इस तरह से पता कर सकते है. कि आप प्रेग्नेंट है या नहीं.

कई ऐसा देखा जाता है कि ज्यादातर महिलाएं इस टेस्ट करने में थोड़ा सा कतरा जाती है इसलिए सबसे पहले ये सुनिश्चित कर ले कि आप को यह टेस्ट करना है या नहीं और जब आप खुद को तैयार कर कि आपको टेस्ट करना है तो  प्रेग्नेंसी टेस्ट करना अपने आप में एक रोचक अनुभव होगा इसलिए डरें नहीं.  निजी तौर पर जांच करे और अपनी जरूरत के मुताबिक समय ले इसमें आप किसी भी प्रकार कि जल्दबाज़ी न करें,और सके आप अपने साझेदार या किसी मित्र से सहायता ले जिस से आप जांच के बाद बाथरूम के बाहर आप बात कर सकें. ताकि आपका ध्यान बट जाएँ और  गुनगुने पानी और साबुन से अपने हाथ धो लें, फिर जांच करने की स्टिक को पैक से निकाले. और बताई गई विधि के अनुसार इस टेस्ट को करें.

इस टेस्ट को करते समय आपको टाइम लग सकता है इसलिए ज्यादा से ज्यादा टाइम लेंगी तो आपके लिए सबसे बेहतर होगा क्योंकि इस जांच को करते समय आपको जांच वाली स्टिक को एक साफ़ और सीढ़ी सतह पर ऐसे रखे की परिणाम दिखाने वाला हिस्सा आपको तरफ रहे. नॉर्मली इस टेस्ट में 1 से 5 मिनट्स का टाइम लगता है लेकिन सही परिणाम के लिए 10 मिनट्स का समय भी लग सकता है. ज्यादातर महिलाये सोचती है कि घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करें और प्रेगनेंसी टेस्ट का उपयोग कैसे करें.

लेकिन किसी भी जांच के पहले उसके अनुशरणो को ठीक से पढ़ना बेहतर होता है . और आप इंतज़ार करें कि क्योकि आपको समय बहुत धीरे गुजरता लगेगा और आप और अधिक परेशान हो जाएँगी. अपना ध्यान कहीं और केंद्रित करने का प्रयास करें, जैसे अपने लिए एक कप चाय बना ले या थोड़ा सा व्यायाम ही कर ले. या फिर टीवी देख सकती है. ज्यादातर गर्भावस्था जांचों में प्लस या माइनस के चिन्ह, कोड किया हुआ रंग परिवर्तन, या “प्रेग्नेंट” और “नॉट प्रेग्नेंट” जैसे शब्दों का इस्तेमाल परिणाम दिखाने वाली जगह पर होता है.

कोई रेखा या चिन्ह बहुत हल्का सा भी शो कर रहा है तो भी आपको इसे पॉजिटिव ही लेना क्योंकि ये आपके मूत्र में उपस्थित HCG को जांच में पाया गया है और थोड़ा सा ये  हसग हार्मोन आपके मूत्र में पाया जाता है तो भी आप खुद प्रग्नेंट ही समझे.और जितना जल्दी हो सके यदि आपका परिणाम पॉजिटिव  है”‘ तो गर्भावस्था को सुनिश्चित करने के लिए आपको डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए. साधारणतः खून की जांच के द्वारा इसे किया जाता है. और यदि ये परिणाम नेगेटिव आता है तो आपको फ़िक्र करने की जरूरत है.

लेकिन यदि आप जांच कर रही है तो ये कुछ बातें ध्यान रखनी चाहिए जैसी की प्रेगनेंसी टेस्ट करने से ज्यादा पानी या तरल पेय न पीएं क्योंकि इससे आपका मूत्र पतला हो जायेगा और आपको सही परिणाम नहीं मिलेंगे. और आप खुद घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करें पायेगी.और ज्यादा समस्या होने पर जैसे मासिकधर्म का चूक जाना, वजन बढ़ना, जी और गर्भावस्था से जुड़े अन्य लक्षण हो तुरंत डॉक्टर की सलाह लें और ये जरूरी भी क्योंकि इस सब में एक्सपर्ट की राय लेना बहुत ही जरूरी हो जाता है.