हस्तमैथुन कितना फायदेमंद और कितना नुकसानदायक, हस्तमैथुन से आई कमज़ोरी को दूर करने के उपाय

हस्तमैथुन एक ऐसी आदत है जो आसानी नहीं छोड़ी जा सकती है बचपन गलत सगत में पड़कर कुछ बुरी आदतें आसानी से हमारे जहन में बस जाती है. दोस्त अक्सर बाते बताते थे कि हस्त-मैथुन करने से काफी मजा आता है, तनाव खत्म हो जाता है, नींद अच्छी आती है और भी बहुत कुछ. और दुष्परिणाम हमें जवानी में आ कर भुगतना पड़ता है.  हस्तमैथुन कभी न कभी हर मर्द ने किया है.

वे बचपन में हो या जवानी में लेकिन ये भी सत्य है जो काम ज्यादा मज़ा देता है पर उतना ही जानलेवा भी होता है. ये एक शारीरिक बीमारी नहीं है लेकिन एक मानसिक बीमारी है. क्योंकि आदतों को आसानी से नहीं छोड़ा जा सकता. और हस्तमैथुन के आने वाली कमजोरियों हम अपने से कहने से शर्मा जानते और इस बीमारी का हम खुलकर इलाज भी नहीं करा सकते ही है. हस्तमैथुन करने लिंग में कमजोरी आ जाती है. ये भी पढ़ें >> स्तन बढ़ाने के घरेलु उपाय

हस्त-मैथुन यौन अवस्था की एक सामान्य प्रक्रिया है और अधिकांश व्यक्ति किसी न किसी रुप से हस्तमैथुन करते हैं हालांकि हमारे समाज में हस्तमैथुन के प्रति काफी भ्रांतियां हैं जैसे कि हस्तमैथुन से शारीरिक और यौन कमजोरी आती है आती परंतु वास्तव में समस्त हस्तमैथुन से नहीं बल्कि इससे जुड़ी हुई भ्रांतियों के कारण ज्यादा होती हैं व्यक्ति शर्म और लज्जा के कारण मानसिक रुप से अपने आप को रुग्ण पाता है पर वास्तव में कोई बीमारी नहीं होती है परंतु यदि आपको बहुत ज्यादा हस्तमैथुन की आदत है तो उसे सुधारने की आवश्यकता है क्योंकि किसी भी कार्य की अति खराब होती है.

हस्तमैथुन से घबराहट और न्यूरोलॉजिकल समस्याएं होती हैं क्योंकि स्खलन के बाद अवसाद पैदा होते हैं और व्यक्ति यह सोचता है. कि उसके उसने गलत किया जिससे मन में नकारात्मकता भर जाती है. हस्तमैथुन के द्वारा असाधारण क्रियाकलाप करने से पायरोनी नाम की बीमारी हो सकती है पायरोनी होने पर लिंग टेढ़ा हो जाता है और मांसपेशियों में तनाव होने से उसके टेढ़ापन को आसानी से देख सकते हैं.  अधिक हस्त-मैथुन करने से वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या में कमी आ जाती है जिससे संतान उत्पन्न करने की क्षमता पर भी असर पड़ता है हस्तमैथुन की आदत से इरेक्टाइल डिसफंक्शन रोग का मुख्य कारण होता है लगातार हस्त-मैथुन करने से लिंग की मांसपेशियों में वीर्य से निकलने वाला द्रव मांसपेशियों में चला जाता है. इस से सूजन आ जाती है और सूजन काफी देर तक बनी रहती है जिस से मूत्र विसर्जन करने में भी दिक्कत आती है. ये भी पढ़ें >> सेक्स करने से स्किन में निखार कैसे आता है

हस्तमैथुन से आई कमजोरी से छुटकारा पाने के नुस्खे है जिनकी सहायता से आप आसानी इस समस्या से निजात पा लेंगे और आप इस उपायों करने के कुछ अन्य दवाओं एवं और डॉक्टर की जरूरत भी नहीं होगी. ये बेहद आम और घर में उपस्थित बस्तुओं से आप आसानी अपनी मर्दाना शक्ति वापस पा सकते है.

हस्त मैथुन करने के बाद खुद पर सबसे ज्यादा ग्लानी नहीं होती और हम खुद से घृणा नही करते. अगर आपको हस्त मैथुन करने के बाद कभी भी ग्लानी महसूस नहीं होती तब आप हस्त मैथुन कर सकते है. लेकिन यदि आप ग्लानी महसूस करते है तो मैं आपसे यही कहूँगा कि आप आज से ही ये आदत को छोड़ दे. आप कुछ देर के मजे के लिए खुद को शारारिक और मानसिक रूप से कमजोर नहीं कर सकते. ये भी पढ़ें>> मात्र 60 दिनों में वज़न घटाए ये घर पर बना हुआ ड्रिंक 

हस्तमैथुन पर किये गए शोधानुसासर ये पता चला है कि अक्सर किशोरावस्था या युवावस्‍था में हस्तमैथुन के शुरुआत की सबसे ज्‍यादा संभावना होती है और जब व्यक्ति को एक बार हस्तमैथुन कि लत लग जाती है तो वह हस्तमैथुन बार–बार करता है. हस्तमैथुन कई नुक्सान होते और कई तरह की शारीरिक और मानसिक परेशानियों का सामना करना पढता है हस्तमैथुन करने से सबसे ज्यादा असर लिंग पर होता है.

जल्दी- जल्दी हस्तमैथुन करने से लिंग से निकलने वाला वीर्य लिंग की माशपेशियों में चला जाता है जिसके कारण लिंग में बहुत अधिक सूजन आ जाती और तब नहीं जाती जब तक की वीर्य खून में फिर न मिल जाए.हस्तमैथुन कई नुक्सान होते और कई तरह की शारीरिक और मानसिक परेशानियों का सामना करना पड़ता है. हस्तमैथुन करने से सबसे ज्यादा असर लिंग पर होता है जल्दीजल्दी हस्तमैथुन करने से लिंग से निकलने वाला वीर्य लिंग की माशपेशियों में चला जाता है.

जिसके कारण लिंग में बहुत अधिक सूजन आ जाती और तब नहीं जाती जब तक की वीर्य खून में फिर न मिल जाए. और इतना ही नहीं बल्कि हस्तमैथुन करने के दौरान लिंग दबाने और मोड़ने के कारण लिंग की नाजुक मांसपेशिया भी टूट जाती है. जिससे लिंग से सम्बंधित कई भयानक और दर्दनाक बीमारयों का सामना करना पड़ता है

हस्त मैथुन करने से वीर्य पतला होता जाता है व शुक्राणुओ की संख्‍या में कमी होने लगती है.किसी व्यक्ति द्वारा रोजाना हस्त मैथुन करने से उसके वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या बहुत कम हो जाती है. इसका सबसे बड़ा नुकसान यह होता है जब व्यक्ति की शादी हो जाती है तब उसके बाद उसके वीर्य में शुक्राणुओं की कमी के कारण वह पिता बनने से भी वंचित रह सकता है.

हस्‍तमै थुन करने से एक बड़ी समस्या यह होती है कि व्यक्ति के चयापचय पर इसका बुरा असर पड़ता है. हस्‍त मैथुन करते वक्त जो पहला गीला द्रव निकलता है उसमे प्रोटीन होता है. जो सेल संरचनाओं के लिए आवश्यक होता हैं.आप यह जरुर जानते होंगे की प्रोटीन हमारे शरीर  के लिए कितना अहम है. इसका लगातार स्खलन आपको दुबला, पतला  एवं कमजोर बना देता है.

हस्त मैथुन से होने वाली समस्याओं से आप आसानी से छुटकारा पा सकते है यदि आप ये निश्चय कर ले आप हस्तमैथुन छोड़ देना चाहते है तो आपको कुछ उपाय करने होंगे जिनकी सहायता से फिर से अपनी मर्दाना शक्ति पा लेंगे और अपने लिंग मोटा लम्बा और कड़क बना पाएंगे यदि आप इन उपायों को करते है.

1. अपनी संगती बदले : संगती हमारे जीवन  की दिशा को तय करती है.हमें ऐसे रास्ते की ओर ले जाती है जहाँ हम न भी जाना चाहे फिर भी उस ओर चले जाते है. अगर आपकी संगती अच्छे लोगो के साथ होगी तो आप उन लोगो से बहुत ही अच्छी बाते और आदते सीखेंगे. जो आपके भविष्य  के लिए काफी लाभदायक सिद्ध होगी.वही अगर कही आपकी संगती बुरे या बर्बाद लोगो के साथ होगी तो आप भी उनकी तरह ही बुरे और बदमाश बन जायेंगे. भले ही आप अभी कितने ही अच्छे क्यों न हो. इसलिए अपनी संगती का विशेष ध्यान रखे. यह ध्यान जरुर रखे कि कही वो लोग आपको कुछ गन्दी आदते या बुरी बाते तो नहीं सीखाते है. अगर ऐसा होता है तो फ़ौरन अपने दोस्तों को बदल ले.

2. पोर्न विडियो देखना बंद करे : अधिकतर लोगो को हस्त-मैथुन के बारे में अपने  से पता चलता है. उन्ही लोगो से वे  भी पोर्न विडियो देखना सीखते है. पोर्न विडियो ऐसी लत वाली चीज है जो अगर आपको लग गयी तो उससे छुटकारा पाना मुश्किल होता है. इसमें व्यक्ति को बार–बार उन दृश्यों को देखने का मन करता है. पोर्न सामग्री व्यक्ति को हस्तमैथुन के लिए उकसाती है. हस्त-मैथुन के कारण हुयी यौन दुर्बलता को कैसे दूर करें अगले पेज पर देखें इस लिंक पर क्लिक करें