मलेरिया के लक्षण और इलाज – Maleria Ke Lakshan Or Ilaj

मलेरिया के लक्षण और उपचार:- मौसम में बदलाव के साथ शरीर में भी कई प्रकार के बदलाव होते हैं बदलते मौसम और मच्छरों के प्रकोप से कई तरह की बीमारियां होती हैं. और इसी कारण से लोग मौसमी बीमारी से ग्रसित हो जाते हैं. कई बार ऐसा होता है कि लोगों को यह समझ नहीं आता क्यों न मौसमी बीमारी या मौसमी बुखार हुआ है या आम बुखार हुआ है. रोजमर्रा के काम के बाद थकान के साथ सिरदर्द अथवा शरीर में दर्द होता है. तो लोगों को यह समझ नहीं आता कि उन्हें डॉक्टर के पास कब जाना चाहिए या फिर इसका इलाज किस तरह कराना चाहिए.

मौसमी बीमारियों में कई प्रकार के बुखार होते हैं जैसे वायरल बुखार, चिकनगुनिया बुखार, डेंगू का बुखार और मलेरिया का बुखार भी इनमे से एक है. मलेरिया इन सब में सबसे खतरनाक और जानलेवा बुखार होता है. बुखार के प्रकार के होते हैं टाइफाइड बुखार दूषित जल और दूषित खाने के सेवन करने से शरीर में फैलता है और इस का सबसे ज्यादा असर हमारे पेट की आंतों पर होता है टाइफाइड बुखार होने के दौरान पेट दर्द सिर दर्द कमजोरी उल्टी दस्त और भी कई तरह के लक्षण होते हैं जिनसे आप पता लगा सकते हैं कि आपको टाइफाइड है या नहीं.

अगले पेज पर जानें मलेरिया का उपचार कैसे करें…

अगले पेज पर जाएँ…. नीचे का Next बटन क्लिक करें