मसूड़ों की सूजन की दवा और इलाज – Medicine Or Treatment Of Gum’s Swelling

मसूड़ों की सूजन की दवा और इलाज :- मसूड़ों में सूजन कई प्रकार से आ सकती है. और कई बार बहुत ही आम समस्या मानी है इसलिए इसका इलाज पर कुछ लोग ज्यादा ध्यान नहीं देते है. और वे सही जानकारी न होने कारण कई अन्य मसूड़ों से संबधित बीमारियों से ग्रसित हो जाते है. लाल मसूड़े, सूजे हुए मसूड़े, दर्द भरे मसूड़े, मसूड़ों की समस्याएं मजाक नहीं है, और अगर इनका समय पर इलाज न किया जाए, तो इससे शरीर के अन्य अंगों में भी गंभीर समस्याएं उत्पन्न हो सकती है, मसूड़ों की कुछ समस्याओं का स्वयं से उपचार करने का प्रयास आप बखूबी कर सकते हैं, परंतु यदि समस्या बढ़ जाएं और आपके मसूड़ों से लगातार खून आ रहा है, तो देर न इसका उपाय ढूंढे या फिर किसी अच्छे दांत के डॉक्टर से सलाह लें. मसूड़ों पर चोट लगने या अधिक गर्म पदार्थ व सख्त चीज़ें खाने से मसूड़ों पर दबाव पड़ता है.जिससे मसूड़ों में सूजन उत्पन्न हो जाती है. मसूड़ों की सूजन की दवा को आप अपने घर पर भी बना सकते है.

मसूड़ों की सूजन की दवा और इलाज

सूजन होने से मसूड़े ढीले पड़ जातें हैं जिससे दांतों का नुकसान होता है. इसका इलाज न होने पर दांत हिलकर गिरने लगते हैं. मसूड़ों की सूजन एक बहुत आम समस्या है तथा इससे बहुत तकलीफ होती है। इसे जिन्जाइवल सूजन भी कहा जाता है. इससे बहुत अधिक दर्द तथा असुविधा होती है. मसूड़ों की सूजन की दवा और घरेलू इलाज है और इससे मसूड़ों से संबंधित जिंजीविटिस, पेरिओडाँटल बीमारी और गंभीरता से लेने लायक अनेक दूसरी समस्याओं को ठीक करने में मदद मिल सकती है इन सरल इलाजों की जानकारी आपके मुंह के स्वास्थ्य को सुरक्षित रखने में मददगार होगी. इससे स्वस्थ मसूड़ों और दांतों के विषय में आपकी जागरूकता भी बढ़ेगी.

और मसूड़ों में सूजन आने के कई कारण हो सकते हैं जैसे जिंजिवीटीज़, पोषक तत्वों की कमी, मुंह में होने वाले संक्रमण आदि. और इन्ही के कमी के कारण कई सारे मुँह से सम्बंधित रोग हो सकते है जोकि बहुत ही ज्यादा दर्दनाक होते है क्योंकि इनके होने कारण व्यक्ति ठीक तरह से न तो खाना खा पाता है और न ही ठीक तरह से पानी पी पाता है इसलिए इसका इलाज सही समय पर होना बहुत ही जरूरी हो जाता है. और मसूड़ों को सूजन की दवा भी आयुर्वेद में बतायी गई है और मसूड़ों की सूजन की दवा को आप अपने घर पर भी बना सकते है ये बहुत ही फायदा दवा है जोकि मसूड़ों की सूजन की दवा कहलाती है.

मसूड़ों की सूजन की दवा और इलाज

आयुर्वेद में बताई गई कुछ आसान दवाएं जिन्हे आप खुद बना कर इस्तेमाल कर सकते है सबसे कारगर दवा नमक के पानी से मुंह धोना आपके लिए सबसे बेहतर होगा यदि आपको मुंह से संबंधित समस्याओं के निजात पाना चाहते है तो  नमक का पानी बहुत महत्वपूर्ण दवा है. नमक के पानी से कुल्ला करने से मुंह में होने वाले संक्रमण से बचाव होता है. मुंह में संक्रमण न होने की वजह से आप मसूड़ों की समस्या को आसानी दूर कर पाते है और आपके मसूड़ों की सूजन भी कम हो जाती है. सरसों के तेल में रोगाणुरोधी गुण होता है जो सूजन को दूर करने तथा मसूड़ों की सूजन से राहत पहुंचाने में सहायक होता है. सरसों के तेल में थोडा नमक मिलाएं तथा इस मिश्रण को मसूड़ों पर लगायें. इस उपचार का बार बार उपयोग करने से आपको जल्द ही संक्रमण से छुटकारा मिल जाएगा.

लौंग का शुरू से मुंह से संबधित रोगों को दूर करने में किया जाता है और दांत के दर्द को दूर करने के साथ साथ मसूड़ों की सूजन दूर करने के लिए सबसे कारगर दवा है और लौंग में यूगेनोल होता है जिसमें एंटीऑक्सीडेंट तथा सूजन को दूर करने का गुण होता है जो सूजन से आराम दिलाने में बहुत प्रभावी होता है. और यदि आप रोजाना लौंग का सेवन करते है तो आपको मुँह से संबधित किसी भी प्रकार की समस्या होती है तो आप खुद ही इसका इलाज घर पर कर सकते है. लौंग का प्रयोग आपके के लिए सबसे बेहतर और सस्ता उपाय है. मसूड़ों की सूजन से छुटकारा पाने का यह दादी मां का नुस्खा है. बबूल के पेड़ की छाल मसूड़ों की सूजन से छुटकारा दिलाने में जादू की तरह काम करती है.

आप बबूल की छाल को पानी में उबालकर माउथवॉश भी बना सकते हैं. तुरंत राहत पाने के लिए दिन में दो से तीन बार इस घरेलू माउथवॉश से गरारे करें. कैस्टर ऑइल, एरंड के तेल में सूजन विरोधी गुण होता है जो मसूड़ों की सूजन से राहत दिलाने में एक प्रभावी घरेलू उपचार है. दर्द वाले भाग पर इसे लगाने से दर्द तथा सूजन से आराम मिलता है.अदरक: मुंह के संक्रमण से बचाव के लिए अदरक एक प्राचीन उपचार है.अदरक में सूजन विरोधी गुण होता है जो मसूड़ों की सूजन से राहत दिलाता है तथा मुंह में होने वाले बैक्टीरिया से बचाव भी करता है. मसूड़ों की सूजन से छुटकारा पाने का एक अन्य उपचार यह है कि टी ट्री ऑइल से मसूड़ों पर मालिश की जाए. यह काफी हद तक परेशानी को कम करता है तथा बिना किसी दुष्प्रभाव के सूजन को कम करता है.

मसूड़ों की सूजन की दवा है नींबू का रस,  नींबू का क्षारीय प्रभाव और इसका सूजन विरोधी गुण मुंह में बैक्टीरिया को पनपने नहीं देता. मसूड़ों की सूजन से आराम पाने के लिए प्रतिदिन सुबह नीबू के पानी से कुल्ला करें. आपको मसूड़ों की समस्या से फायदा होगा और आप को काफी हद तक आराम मिलेगा. और यदि आपके मुँह से मसूड़ों से खून आता है तो आप एलोवेरा का उपयोग करें क्योंकि एलोवेरा एक हरफनमौला औषधि है जो कई प्रकार की बीमारियों से लड़ने में आपकी मदद करता है. और इस एलोविरा के जेल की प्रकृति एंटीबैक्टीरियल (बैक्टीरिया विरोधी) और एंटीफंगल (फंगस विरोधी) होती है. यह मसूड़ों की सूजन को दूर करने, मसूड़ों से खून आने तथा मुंह के संक्रमण जैसी समस्याओं को दूर करने में सहायक होती है. तो आप इन मसूड़ों की सूजन की दवा का प्रयोग करके अपने आप ही अपने मसूड़ों की सूजन को दूर कर सकते है.