नाक बहने का इलाज – Naak Behene Ka Ilaj In Hindi

नाक बहने का इलाज :- बहती हुई नाक का रोकने का घरेलू उपाय सर्दियों में जब नाक बहती है तो सांस लेना मुश्‍किल हो जाता है. आप ना ही सो पाते हैं, ना ही खा पाते हैं और आपका किसी चीज पर ध्‍यान नहीं लगता. यह उनके लिये भी बहुत झेलने वाला होता है जो आपके आस पास मौजूद होते हैं. बहती हुई नाक को रोकने के लिये अपने पास टिशू पेपर रखने के बजाए, आप नाक बहने का इलाज या उपचार का प्रयोग करें ऐसा करने से आपकी बहती हुई नाक एक दम बंद हो जाएगी और आप फिर से फ्रेश फील करेंगे. इन घरेलू उपचार की मदद से आपकी बहती हुई नाक रुक जाएगी और आपका पूरा स्‍वास्‍थ्‍य अच्‍छा हो जाएगा. मौसमी जुकाम के इलाज में हल्दी काफी फायदेमंद है. बहती नाक के इलाज के लिए हल्दी को जलाकर इसका धुआं लें, इससे नाक से पानी बहना तेज हो जाएगा व तत्काल आराम मिलेगा.

यदि नाक बंद है तो दालचीनी, कालीमिर्च, इलायची और जीरे के बीजों को बराबर मात्रा में लेकर एक सूती कपड़े में बांध लें और इन्हें सूंघें. जिससे से आप को काफी फायदा होगा. हम सभी सर्दी के मौसम में कई तरह की बीमारी के लपेटे में आ जाते है जैसे सर्दी जुकाम, खासी और नाक से पानी आना यानी नाक  बहने जैसी समस्याओ से परेसान रहते है. सर्दी  एक आम बीमारी है, लेकिन समय पर अगर इसका इलाज न हो जाये तो ये बीमारी बहुत खतरनाक रूप ले लेता है. सर्दी जुकाम के कारन बहुत सी परेशानी जैसे बुखार आना, सिर दर्द और बदन दर्द का सामना करना पड़ जाता है.

सर्दी जुकाम से हमारी नाक कभी-कभी बंद हो जाती है जिससे सांस लेने में भी तकलीफ होती है और कभी-कभी तो नाक बहुत बहती है जिससे हम कोई भी काम करंट समय बहुत दिक्कत में आ जाते है. जब हमारी नाक बंद हो जाती है तो बहुत सी परेशानियों को झेलना पड़ता है और बुखार भी आ जाता है साथ में बदन दर्द भी हो जाता है. इसलिए आप को इसके कोई पक्का इलाज करना जरूरी है. और यदि आप नाक बहने के इलाज को करना चाहते तो आपको घर में मौजूद कुछ बस्तुओं का उपयोग करना होगा जिससे आप को बहुत जल्दी आराम मिल जायेगा.

लहसुन के इस्तेमाल करके आप खुद ही अपना इलाज कर सकते है इसके लिए आपको लहसुन का प्रयोग करना होगा. लहसुन में बहुत से एंटीबायोटिक गुण पाए जाते है जो हमारे स्वास्थ्य के प्रति बहुत बहुत ही ज्यादा संवेदनशील होता है अगर किसी की नाक बंद हो गयी हो या जुकाम के कारण नाक से पानी आ रहा हो तो लहसुन का इस्तेमाल बहुत लाभ पहुचता है. आपको इसका इस्तेमाल बताये. आप लहसुन की कली को और हल्दी पाउडर को पानी में मिलाकर उबाल ले. जब ये पक जाये तो इसे उतार दे और ठंडा होने दे. जब ठंडा हो जाये तो इसे आप सेवन करे ऐसा करने से आपकी नाक खुल जाएगी और अगर पानी आ रहा हो तो उससे भी छुटकारा मिल सकता है.

सबसे बेहतरीन और आसान इलाज तो यही है कि नमक के पानी से गरारा करें क्योंकि नमक में लवणीय गुण होता है. इस उपाय को करने के लिए आप 1 कप पानी में 1 चम्‍मच नमक मिला कर घोल लें. इस पानी से 30 सेकेंड के लिये गरारा करें आपको राहत मिलेगी. इससे आपके नाक बहने का इलाज भी हो जायेगा और आपके गले की खराश भी दूर जाएगी. और नाक बहने का इलाज करने करने के लिए आप सरसों के तेल का इस्तेमाल कर सकते है. और सरसो के तेल की महक बहुत असरदार होती है. और इसको सुघने से आपकी नाक बहने का इलाज आसानी से हो जायेगा और आप आसानी से साँस लेने में भी आसानी होती है. और जिससे नाक बिल्‍कुल साफ हो जाती है.

और इसका इस्तेमाल आप कुछ इस प्रकार कर सकते है. 1 चम्‍मच सरसों का तेल कटोरी में रख कर 10 सेकेंड के लिये माइक्रोवेव में रखें. फिर एक-एक बूंद अपनी दोनो नाकों में डालें. इससे भी आपको काफी आराम मिलेगा.2 चम्‍मच सूखी अजवायन को बारीक पीस लें और उसे साफ रुमाल के बीच में रख कर बांध दें. इस पोटली को नाक पर रख कर सूंघे। जब भी नाक बहे तब इसे सूंघे. और एक कप में 1/4 चम्‍मच हल्‍दी डालें और 1 कप पानी उबालें। उबले पानी को हल्‍दी के साथ मिक्‍स करें। 10 मिनट के बाद हल्‍दी को पानी से छान लें और गरमा गरम चाय पियें। जब तक नाक बहे तब तक हर दिन 2 कप चाय ऐसे ही बना कर पियें. आपके नाक बहने का इलाज हो जायेगा.

अदरक में कई सारे एंटीसेप्टिक गुण होते है. और यदि आप अदरक की चाय का सेवन करते है तो आपको काफी फायदा है. अदरक की चाय सबसे बेस्‍ट चाय है और यह तुरंत बन जाती है. एक कप में 3 टुकड़े अदरक के डाल कर 1 कप गरम पानी डालें. इसमें दालचीनी भी डालें और जब ये अच्छी तरह से उबाल जाएँ तो इसे गरमा गर्म पीएं ऐसा करने से आपकी बहती हुई नाक ठीक हो जाएगी और आपको गले सम्बन्धी रोग भी ठीक हो जाते है इसलिए हो सके तो इसका सेवन कम से कम दिन में दो से तीन बार अवश्य करें ये आपके लिए काफी फायेदमंद होगा.

मेथी के फायदे के बारे में आप सभी जानते ही होंगे और इसका इस्तेमाल सदियों से खाने में होता चला आ रहा है. मेथी में ऐसे सारे औषधीय गुण मौजूद होते है और इसमें आयरन की मात्रा काफी अच्छी होती है. जिसकी हमारे शरीर को जरुरत होती है. अगर किसी को जुकाम हो गया हो या जुकाम के कारण नाक बंद हो गयी हो या पानी आ रहा हो तो ऐसे में मेथी आपको बहुत लाभ पंहुचा सकती है. इसका इस्तेमाल आपको बताये पीसी हुयी हल्दी को पानी में मिलाकर उबल दे और जब थोडा ठंडा हो जाये तो आप इसका सेवन करे बहुत लाभ होगा.

आमतौर सर्दी जुकाम पर हल्का-फुल्का ही होता है जिसके लक्षण एक हफ्ते या इससे कम समय के लिए रहते हैं, लेकिन खान-पान की आदतों को लेकर हमें काफी सतर्क रहना चाहिए और यदि जुकाम वगैरह के लक्षण दिखाई दे तो समुचित दवाओं आदि से इलाज कराना चाहिए. डिप्थीरिया होने पर अमलतास के काढ़े से गरारा करने पर जबर्दस्त आराम मिलता है. तुलसी और अदरक इस मौसम में लाभदायक होते हैं. तुलसी में काफी उपचारी गुण समाए होते हैं, जो जुकाम और फ्लू आदि से बचाव में कारगर हैं. और नाक बहने का इलाज भी इसके द्वारा आसानी से किया जा सकता है.