शिलाजीत के फायदे और नुकसान | Shilajit Benefits and Side Effect In Hindi

शिलाजीत के फायदे और नुकसान – शिलाजीत का मलतब होता है जो पत्थरों कि तरह मजबूत हो और पहाड़ों को जीत लें. ये सिर्फ नाम के लिए नहीं है बल्कि इसके फायदे भी पहाड़ जितने बड़े है और आयुर्वेद में ये भी सिद्ध भी किया है क्योंकि ये सभी गंभीर बिमारियों को ठीक कर सकता है इसका उपयोग ज्यादातर यौन से सम्बंधित बीमारी को दूर करने में किया जाता है.

ये दवा खासकर यौन से जुडी कमजोरी को दूर करने और यौन शक्ति को बढ़ने एवं शरीर में यौन ऊर्जा को बढाती है ये महिलाओं को भी जाती है ये उनके बांझपन को खत्म करता है बच्चे पैदा करने कि शक्ति एवं प्रजनन क्षमता में बढ़ोत्तरी करता है.

शिलाजीत खाने का तरीका

ये शिलाजीत सेक्स करने की ताकत को बढ़ता है और शुक्राणु लेवल को इनक्रीस करता है और स्वप्नदोष शीघ्र स्खलन एवं औरतों की यौन रोग को भी दूर करता है एवं शरीर के अन्य विकारों के इलाज के लिए देशी मगर प्रभावी इलाज है.भारतीय सेक्स कला यानी “कामसूत्र” में भी इसके विषय में उल्लेख किया है.

शिलाजीत के सेवन के फायदे

इसे इंडियन वियाग्रा कहते है और वियाग्रा आपकी सेक्स पावर को बढ़ता है और आपको सेक्स करने के लिए उत्तेजित करता है. इसका प्रयोग केवल सेक्स की पावर को बढ़ाने में नहीं किया जाता है बल्कि ये व्यक्ति को शारीरिक एवं मानसिक रूप से ताकतवर बनाता है. और ये शरीर में घोड़े जैसी फुर्ती ला देता है जिससे सेक्स करने का मज़ा और भी ज्यादा बढ़ जाता है.

शिलाजीत गोल्ड

शिलाजीत आपके हर रोग को ठीक करने के काम आता है चाहे आपको शुगर यानी मधुमेह या फिर आपका रक्त का चाप उच्च हो या हृदय और रक्त संबंधी कोई भी रोग हो ये सब ठीक कर देता है. इसका सबसे ज्यादा असर यौन शक्ति पर पड़ता है ये लिंग से जुडी बीमारी को भी ठीक करता है.

मधुमेह के लिए शिलाजीत के फायदे

मधुमेह के लिए शिलाजीत का सेवन – दुनिया भर में ऐसे लोगों की संख्या जिन्हे मधुमेह (diabetes) है और इसी बीमारी के कारण उन्हें और भी कई सारे रोग हो जाते है, शिलाजीत खून में घुलने वाले शर्करा (glucose) के लेवण को कण्ट्रोल करता है जिससे आपको मधुमेह के रोग में आराम मिलता है. और शिलाजीत के नियमित इस्तेमाल से मधुमेह पूरी तरह से खत्म हो जाता है.

यह सबसे महत्वपूर्ण अंग यानी हृदय को मज़बूत बनाता है एवं आपके शरीर में रोगों से लड़ने वाले तंत्र को भी मजबूत बनाता है जिससे आपको दिल से जुडी कोई भी बीमारी नहीं होती है और आप जल्दी बीमारी भी नहीं पड़ते है क्योंकि आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत कर ये शरीर में ऊर्जा एवं ताक़त भरता है.

उच्च रक्तचाप के लिए शिलाजीत का सेवन

उच्च रक्तचाप के लिए शिलाजीत का सेवन – ये दिल से जुड़ा रोग है जो कई लोगों को होता है जब उनके शरीर में रक्त वाहनियों में रक्त उच्च दाब के साथ बहता है तो हृदय रोग होता है और मानव किसी भी बिमारी को ठीक करने की अंधरुनि शक्ति को खो देता है और इस वजह से मानव दिल की बीमारी से बड़ी ही आसानी से ग्रस्त हो सकता है. शिलाजित का चूर्ण रोज खाने से दिल की बीमारी ठीक होती है साथ आपको शरीर भी मजबूत हो जाता है.

एनीमिया

एनीमिया – एनीमिया (anemia) रोग जब होता है जब शरीर में खून की कमी होती है और इस रोग के होने से शरीर में बहुत ज्यादा थकावट आती है और सांस लेने भी तकलीफ होती है एवं संश फूलना भी शुरू हो जाती है खून की कमी से चक्कर आना भी शुरू हो जाते है. लेकिन इस बीमारी के इलाज के आप शिलाजीत का सेवन करें ताकि शरीर में उचित मात्रा में रक्त बने. शिलाजीत आपके शरीर में खून की मात्रा के स्तर को बढ़ाताहै साथ ही शरीर में फुर्ती और जोश भर देता है.

दिमाग़ तेज़ करने के लिए शिलाजीत का सेवन

दिमाग़ तेज़ करने के लिए शिलाजीत का सेवन – यदि आपको भूलने की बीमारी है या फिर आपको थोड़े समय बाद कुछ याद नही रहता है तो शिलाजीत का सेवन करें क्योंकि तेज दिमाग के लिए शिलाजीत जरुरी है और शिलाजीत के निरंतर एवं से स्मरण-शक्ति बढती है और दिमाग को भरपूर आहार मिलता है जिससे दिमागी कमजोरी दूर होती है और आपकी याद रखने की शक्ति भी बढ़ जाती है.

गठिया के लिए शिलाजीत का सेवन – ये एक एसा रोग है जिसमे आपके जोड़ो में सूजन आ जाती है एवं जोड़ो भी बहुत तेज दर्द होता जो की असहनीय होता है. एवं शिलाजीत के रोजाना इस्तेमाल से आप इस रोग से मुक्ति पा सकते है एवं शरीर के जोड़ों में होने वाली सूजन और उसके दर्द को पूरी तरह से मिटा सकते है और सुबह शरीर में जो अकडन होती है उसे दूर करने में भी शिलाजीत बहुत लाभकारी है.

मूत्र विकार के लिए शिलाजीत का सेवन – यदि आपको मूत्र त्यागने में तकलीफ़ होती है या फिर मूत्र मार्ग से खून आता है एवं जलन होती है तो आप शिलाजीत का सेवन करें ये आपको मूत्र संबंधी रोगों से निजात दिलाएगा एवं आपको आंतरिक रूप से मजबूत बना देगा जिससे लिंग में होने वाली सभी दिक्कते दूर हो जाएँगी.

यौन विकारों को दूर करने के लिए शिलाजीत का सेवन

यौन विकारों को दूर करने के लिए शिलाजीत का सेवन – ज्यादातर मर्दों को आजकल के खानपान के कारण यौन समस्या होने लगी मर्दों को कई तरह के यौन विकार होते है जैसे रात में सोते हुए अचानक से वीर्य का निकलना जिसे स्वप्नदोष कहते है एवं शीघ्रपतन हो जाता हो जाना भी यौन विकार है. आप इन सभी से बचने के लिए शिलाजीत का सेवन करें एवं खुद को स्वस्थ और मजबूत बनायें.

शीघ्रपतन का आयुर्वेदिक इलाज

शिलाजीत महिलाओं के लिए

महिलाऐं भी इसका इस्तेमाल मासिक धर्म चक्र (menstrual cycles) को नियंत्रित करने में करें ये उनके लिए भी बहुत फायदेमंद है एवं शिलाजीत एक बहुत ही उत्तम यौन (sex) टॉनिक है. शिलाजीत संभोग करने की शक्ति को दुगना बढ़ा देता है. यदि महिला अपने पति या अपने पार्टनर को शिलाजीत दूध में घोलकर पिलायें तो वे सहवास का भरपूर आनंद ले सकतीं हैं.

शिलाजीत के खाने के बाद इंसान में घोड़े जैसी ताकत आ जाती है. किसी भी महिला को वह रातभर तक संतुष्ट करने की शक्ति को पा लेता है. पुरुषों में यह शुक्राणुओं को स्वस्थ बनाता है और उनके स्तर को बढ़ावा देता है. यह गर्भावस्था में भी अत्यंत लाभदायक है.

शिलाजीत लेने के नुकसान

शिलाजीत लेने के नुकसान: माना जाता है कि शिलाजीत प्राकृतिक दवा है जिसके नुकसान होना सम्भव है लेकिन फिर भी इसके कोई न कोई साइड इफ़ेक्ट तो है. यदि कोई व्यक्ति इसका उपयोग जरूरत से ज्यादा करता है तो इसका नुकसान सीधा शरीर पर ही पड़ता है.

क्योंकि इसमें लौह की मात्रा भी उच्च होती है. जो शरीर में विकार उत्पन्न करने भी सहायक है इसीलिए आप इसका सेवन नियमित और निश्चित मात्रा में करें. इसका सेवन ज़्यादा मात्रा में करने से यह एलर्जी का खतरा भी रहता है. गर्भावस्था (Pregnancy) में इसका सेवन न करें तो ही ये आपके लिए अच्छा है.