स्लिप डिस्क क्या है और स्लिप डिस्क का घरेलू इलाज

स्लिप डिस्क का घरेलू इलाज :- कमर में होने वाले दर्द को स्लिप डिस्क कहते हैं और यह पीठ दर्द के जैसा होता है. ये आपकी रीढ़ की हड्डी पर होता है कई लोगों को कमर के बीच में या कमर के निचले हिस्से में दर्द होता है. जो लोअर पैन कहलाता हैं आजकल कमर दर्द एक बहुत ही आम समस्या बनती जा रही है.

स्लिप डिस्क के लक्षण

क्योंकि कमर दर्द होना है या बैक पेन होना बहुत ही आम है लेकिन 40 वर्ष से ज्यादा उम्र वाले व्यक्तियों को यह समस्या पहले होती थी लेकिन आजकल यह समस्या नौजवानों में भी देखी जा रही है अगर इसका इलाज नहीं कराया था या फिर इसे मामूली दर्द समझकर इग्नोर करते हैं तो यह आपकी सबसे बड़ी भूल हो सकती है क्योंकि यदि इसका उपचार नहीं कराया जाता तो ये समस्या धीरे-धीरे आपके कूल्हे और पैरों में भी दर्द देने लगता है.

और जिसके कारण आप को उठने-बैठने और चलने-फिरने में दिक्कत होने लगती है और जो लोग मेहनत करते हैं, यानी मजदूरी कर के अपना काम करते हैं या फिर भारी सामान उठाना पड़ता है उन्हें लोअर पेन की समस्या बहुत अधिक रहती है. ऐसा देखा जाता है कि कभी-कभी कमर दर्द बहुत ही जल्दी ठीक हो जाता है और कभी कभी यह बहुत देर तक बना रहता है. ये भी पढ़ें – अखरोट खाने के आयुर्वेदिक फायदे

स्लिप डिस्क ट्रीटमेंट

तो स्लीप डिस्क या कमर दर्द को दूर करने के कुछ आसान और घरेलू उपाय हैं. जिन्हें आप आसानी से कर सकते हैं लेकिन इनका इलाज जाने से पहले इनका कारण जानना भी बहुत जरूरी है, कि आखिर स्लिप डिस्क या कमर दर्द होता क्यों है. स्लिप डिस्क या कमर दर्द रीड की हड्डी पर दबाव पड़ने के कारण होता है. या फिर कमर की मांसपेशियां कमजोर हो जाने के कारण कमर दर्द होना और इसके कई कारण होते हैं जैसे काम करते करते अचानक से झुक जाना या फिर भारी वजन को उठा कर चलना, कमर में झटका लग जाने से भी हो जाती है.

बहुत देर तक यदि आप कंप्यूटर या लैपटॉप आगे बैठकर काम करते हैं इसे भी आपके की समस्या होती है. ज्यादा देर तक लेटे रहना किसी काम को करना इसे भी हो जाती है और उम्र बढ़ने के साथ-साथ मांसपेशियां और हड्डियां कमजोर होने लगती हैं. जिस वजह से आपके पड़ता है और दबाव के कारण समस्या आ जाती है. इसे कमर दर्द होने की समस्या बनी रहती है. ये भी पढ़ें – स्वादिष्ट भारतीय व्यंजन बनाने की विधियां हिंदी रेसिपी

गर्भवती महिलाओं में स्लिप डिस्क होना और उसका बचाव

महिलाएं गर्भवती होती हैं उन्हें कमर दर्द की समस्या अधिकतर होती है क्योंकि जैसे जैसे पेट के भीतर शिशु बढ़ता जाता है वैसे ही कमर की मांसपेशियों पर दबाव पड़ने लगता है. जिससे गर्भवती महिला को कमर दर्द की समस्या होती है. इसके लिए गर्भवती महिला को किसी योग गुरु या योगा टीचर की बहुत जरूरत होती है. कमर दर्द होने के कुछ साधारण से लक्षण जिन्हे आप पहचान सकते हैं.

सबसे पहले इसमें कमर और पैरों में बहुत तेज दर्द होता है. और पैरों की उंगलियां सुन्न हो जाती हैं जांघों और कूल्हों के आसपास सुन्न होना भी स्लिप डिस्क का ही लक्षण है झुकने चलने-फिरने आदि कार्य करने में यदि शरीर में दर्द महसूस होता है. यह भी स्लिप डिस्क का कारण है और जब भी कमर दर्द की समस्या बढ़ती जाती है तो मल त्यागने और पेशाब करने में भी दिक्कत आने लगती है. यह कुछ कारण है, आप पहले से ही जानकर पता लगा सकते हैं कि आपको स्लिप डिस्क है या नहीं.सबसे पहले आपका यह जानना जरूरी है कि स्लिप डिस्क होता क्या है ?

स्लिप डिस्क के बारे में आपने यह सुना हुआ है कि डिस्क खिसक गई है उन्हें पीठ में दर्द रहता है हमारे शरीर की रीढ़ की हड्डी छोटे-छोटे मनको से मिलकर बनी होती है, और हर तो मनको के बीच में एक डिस्क होती है. जो आपके शरीर को झटका सहने में मदद करती है और जब हम कोई शारीरिक क्रिया करते हैं तो यह फ़ैल जाती है. और जब हम गलत तरीके से किसी वस्तु को उठाते हैं एक गलत तरीके से बैठते हैं तो इससे कमर पर बहुत अधिक जोर पड़ता है जिसके कारण है हड्डी व कमर कि जो नसें होती हैं, उन पर बहुत अधिक दबाव पड़ता है. जिससे कमर दर्द होना शुरू हो जाता है और जब यह डिस्क घिस जाती हैं तो इन में सूजन आ जाती है. जिसके कारण शरीर के अंग सुन्न होने लग जाते हैं.

कमरदर्द (स्लिप डिस्क) को कैसे दूर करें, आसान और घरेलू उपाय

कमरदर्द का बहुत ही आसान और घरेलू उपाय जानने के लिए आगे तक पढ़ते रहें अपने कमर दर्द को दूर करने के लिए आप को पांच लौंग और पांच मिर्च को अच्छी तरह से पीस लेना है फिर इसमें सूखी हुई अदरक को मिला लेना है. और इसका एक काढ़ा बनाना है और इस काढ़े को दिन में दो बार लेना है या फिर आप 2 ग्राम दालचीनी पाउडर को एक चम्मच शहद के साथ मिलाकर भी इसका सेवन कर सकते हैं इससे आपके कमर दर्द और सिर्फ देश की समस्या से रात मिलती है. लहसुन के कई सारे फायदे होते हैं यदि आप अपने खाने में लहसुन का इस्तेमाल करती हैं.

तो आपका पुराने से पुराना कमर दर्द भी दूर हो जाता है. अपने भोजन में ऐसी चीजों को शामिल करें जिसमें कैल्शियम और विटामिन डी बहुत अधिक मात्रा में हो क्योंकि इससे आपकी हड्डियां मजबूत होती हैं. सबसे बेहतरीन इलाज यह है कि आप गुनगुने पानी में आधा चम्मच गूगल लेने से कमर दर्द दूर हो जाता है. नारियल का तेल व सरसों का तेल लेकर इसमें लहसुन की ३ – ४ कली डाल कर इसको अच्छी तरह से गरम कर लेना है. और जब यह ठंडा हो जाए तो इस तेल से अपने कमर की मालिश करना है.

इससे आपकी कमर दर्द दूर हो जायगा या फिर आप नमक को पानी में घोलकर और इसे गर्म कर लेते हैं और इसमें एक तोलिए को डुबोकर और फिर निचोड़कर अपने कमर में दर्द होने वाली जगह पर लगाते हैं, तो आपके कमर दर्द दूर हो जाता है. एक कप सेंधा नमक को गर्म पानी में डालकर और अच्छी तरह मिलाकर और इस पानी से नहाने से आपकी कमर दर्द की समस्या दूर होती है.

स्लिप डिस्क होने पर क्या खाएं और इसके घरेलू उपाय

यदि आप खाने में गोभी, टमाटर, खीरा, चुकंदर, पालक, ककढ़ी, गाजर फलों का सेवन करते हैं, तो आपको कमर दर्द की समस्या खत्म हो जाती है. व्यक्तियों को कमर में दर्द होता है उन्हें कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए वह घरेलू उपाय को करते समय किसी भी भारी सामान को नहीं उठाएं और लगभग दो से 3 हफ्ते तक आराम ही आराम करें और अपनी मांसपेशियों को मजबूत करने और कमर दर्द से छुटकारा पाने के लिए आयुर्वेदिक चिकित्सक या फिर किसी अच्छे डॉक्टर की सलाह अवश्य लें. ये भी पढ़ें – कोलेस्ट्रॉल कम करने के उपाय

स्लिप डिस्क (कमर दर्द) होने पर क्या सावधानियां रखें यहाँ जानें

यदि आपको लंबे समय तक झुक कर काम करना पड़ता है तो ऐसा ना करें. आप किसी कुर्सी पर कमर सीधे रखें और बैठे जाए. इस मुद्रा में बैठने पर आपके कमर का दर्द नहीं होता है और लगातार आप बैठकर काम करते हैं या फिर बिना हिले-डुले अपना काम करते हैं. तो थोड़े-थोड़े समय में ब्रेक लेना चाहिए. यदि आपका वजन बढ़ा हुआ है या आप बहुत मोटे हैं तो भी यह मोटापा आपके रीड की हड्डी पर असर डालता है. जिसके कारण आपको कमर दर्द की समस्या होती है. इसीलिए अपने वजन को नियंत्रित रखें और अपने शरीर की चर्बी को ना बढ़ने दें.

बड़ी हील वाले जूते और सैंडल पहनना बंद कर दें और नियमित रूप से शारीरिक व्यायाम अवश्य करें क्योंकि ऐसा करने से आपकी मांसपेशियां मजबूत होती हैं. इसीलिए नियमित योगा और एक्सरसाइज जरूर करें. दर्द होने वाली जगह पर बर्फ से सिकाई करें ऐसा करने से अंदर की सूजन कम हो जाती है और दर्द भी कम हो जाता है और आप कुछ योगासन भी कर सकते हैं जिसकी मदद से आपको कमर दर्द से छुटकारा मिलेगा. जिसमें चक्रासन, हलासन, मकरासन, भुजंगासन और मध्यइंद्रासन अवश्य करें, ऐसा करने से आपकी दिनचर्या भी सुधरेगी और आपको कमर दर्द से भी छुटकारा मिल जाएगा.