Teeth Whitening Tips In Hindi

Teeth Whitening Tips In Hindi: हमारे शारीर के महत्वपूर्ण अंगों में से एक होते हैं| हमारे दांत जो हमारे चेहरे की शोभा को बढ़ाते हैं| यदि हमारे दांत न होते तो हम बहुत ही बेकार लगते, जब भी हम हँसते हैं तो हमारे दांत दीखते हैं और वे हमारी हंसी पर चार चाँद लगा देते हैं|

Teeth Whitening Tips In Hindi

दांतों के पीले होने के कारण

आपने अपने दादा दादी को देखा होगा बुढ़ापे में उनके दांत गिर जाते हैं| और वे फिर कैसे लगते हैं इससे आपको आपके दांतों का महत्व समझ आ जाता होगा| और आप सोचते होंगे की हमारे दांत कम उम्र ख़राब हो गए तो क्या होगा हम फिर कैसे लगेंगे|

यदि आप ऐसा नहीं चाहते कि आपके दांत भी गिर जाये| और आपको इसके लिए अपने दांतों का ख्याल रखना होगा| उन्हें रोजाना नियमित रूप से साफ करना होगा| क्या होता हैं कही बार कुछ लोग अपने दांतों पर ध्यान नहीं देते जिस कारण से उनके दांतों पर पीले रंग की एक परत बन जाती हैं| जो दांतों को नुकसान देते हैं|

आज के समय में ज्यादा देखा गया हैं कि पुरुषो के मुताबिक महिला अपने दांतों को ज्यादा महत्व देती हैं| वे अपने दांतों की Care ऐसे करती हैं जैसे किसी छोटे बच्चे की करते हैं| इसका ये कारण होता हैं कि महिलाओ को हर हाल में सुन्दर दिखना पसंद होता हैं| लेकिन जब वे हंसती हैं तो उनके दांत दीखते हैं|

और अगर उनके दांत साफ और सुन्दर नहीं हुए तो उनके चेहरे की चमक भी कम लगती हैं| क्योकि महिलाये जब हंसती हैं तो उनके दांतों का shine करना ही जरुरी होता हैं| इसीलिए आज हम दांतों की देखभाल को लेकर कुछ उपचार लेकर आये हैं जिससे महिलाओ को आसानी से आपने दांतों की Care करने का मौका मिल जायेगा|

  • अधिक मात्रा में चाय और कॉपी का सेवन करने के कारण|
  • चाय या कॉपी लेने के बाद कुल्ला न करने के कारण|
  • जब मानव की उम्र बढ़ने लगती हैं| तब दांतों पर प्लैक की परत चढ़ती जाती हैं| इससे भी दांत पीले होने लगते हैं| (Teeth Whitening Tips In Hindi)
  • पानी में फ्लोराइड की मात्रा आधिक होने के कारण|
  • कोल्ड ड्रिंक या फिर ड्रिंक का सेवन करने के कारण|
  • तम्बाकू, गुटका, शराब आदि के ज्यादा सेवन करने से|
  • अपने दांतों को समय समय पर साफ न करने के कारण|
  • दांतों की देखभाल न करने के कारण|
  • खाने खाने के बाद दांतों को साफ न करने के कारण|
  • सुबह बिना ब्रश किये चाय या कॉपी लेने के कारण|
  • ठंडी चीजो का अधिक मात्रा में सेवन करने के कारण|
  • कही बार ऐसा भी होता हैं यदि आप कही बाहर जाते हैं| और आपको वहां का पानी सूट नहीं करता तो भी आपके दांत पीले हो सकते हैं|

दांतों के पीले होने के कारण | पीले दांतों को सफ़ेद करने के लिए घरेलू नुस्खे

पीले दांतों को सफ़ेद करने के लिए घरेलू नुस्खे

नमक और सरसों के तेल का उपयोग: नमक और सरसों का तेल तो हर घर में पाया जाता हैं| ये दोनों हर घर में बड़े ही आसानी से मिल जाते हैं| सरसों के तेल में नमक मिलाकर दांतों की मसाज करें| ये नुस्खा काफी समय पुराना और अचूक हैं| इसके इस्तेमाल से आपके दांत सफ़ेद हो जायेंगे|

आधे चम्मच सरसों के तेल में 2 चुटकी नमक मिला लें| फिर इसे मिक्स कर ऊँगली की मदद से दांतों में मंजन की तरह करें| इसके परिणाम तुरंत दिखाई देते हैं| अगर आप दांतों को जल्दी सफ़ेद बनाना चाहते हैं तो इस प्रयोग को अवश्य करें| और आपने दांतों को जल्द से जल्द बनाये सफ़ेद|

बेकिंग पाउडर का उपयोग: बेकिंग पाउडर ये भी आसानी से सभी घरो में पाया जाता हैं| इसका उपयोग करके हम अपने दांतों के पीलेपन को मिटा सकते हैं| एक बड़ा चम्मच बेकिंग सोडा लें और उसमे आधे कप पानी मिला लें| और फिर इस मिश्रण से कुल्ला करें| इससे आपको बेहतर फायदे मिलेंगे|

स्ट्रॉबेरी (Strawberries): हमारे दांतों के लिए एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन्स की जरुरत होती हैं| और ये न दोनों ही स्ट्रॉबेरी में पाए जाते हैं जो हमारे दांतों को सफ़ेद करने में सहायक होते हैं| स्ट्रॉबेरी का टेस्ट भी अच्छा होता हैं तो आप इसे आसानी से ले सकते हैं|

आप 3 स्ट्रॉबेरी को लें और उन्हें पीस लें| और फिर ये एक पाउडर बन जायेगा जैसा की हमारे मंजन में आता हैं| फिर इस पाउडर को लेकर 1 मिनट तक अपने दांतों पर घिसे ऐसा आप 1 हफ्ते तक दिन में तीन बार करें|

नींबू का उपयोग: नींबू (Lamon) के रस में आप एक चुटकी नमक मिला लें| और फिर इसे अपने दांतों पर घिसे इससे आपको फायदा होगा| यदि आप चाहे तो नींबू के छिलके भी इस्तेमाल कर सकते हैं| नींबू के छिलके को दांतों पर घिस कर पानी से कुल्ला कर लें|

दांतों को पीलेपन से बचाने के तरीके

नमक का उपयोग: नमक को तो हम रोज ही खाने में खाते हैं| क्योकि नमक में जीवाणुरोधी होता हैं जो हमारे लिए लाभकारी होता हैं| और यदि हम नमक का इस्तेमाल दांतों के लिए करते हैं| तो ये दांतों के कोनो से कीटाणुओं को मारकर दांतों को सफेदी देता हैं|

इसके अलावा भी नमक दांतों को खनिज घटक देता हैं| बस नमक का इस्तेमाल करते समय एक ही बाद का ध्यान रखे की नमक को दांतों पर घिसते समय मसूड़ों पर नमक की ज्यादा मात्रा न लगें सिर्फ दांतों पर ही नमक की मसाज करें|

संतरे के छिलके का सेवन: आप चाहे तो दांतों के लिए संतरे के छिलके का इस्तेमाल भी कर सकते हैं| रात को सोने से पहले संतरे के छिलके से दांतों को घिसें| संतरे में विटामिन सी होता हैं| जो दांतों से कीटाणुओं को मारने में मददगार होता हैं| यह दातों को मजबूत भी बनता हैं|

तुलसी का सेवन: तुलसी का पौधा हर घर में पाया जाता हैं| क्योकि भारत में तुलसी की पूजा हर घर में की जाती हैं| इसके साथ साथ ये एक औषधीय पौधा भी हैं जो कई प्रकार की औषधी में काम आता हैं| इसके कई गुण हैं जो हमारे लिए लाभदायक होते हैं|

तुलसी में भी दांतों को चमकाने एवं दांतों एवं मुंह की समस्याओं को दूर करने के गुण पाए जाते हैं| दांतों को पीलेपन से बचाने के लिए तुलसी के पत्ते तोड़ें और इन्हें धूप में कुछ घंटों के लिए रखें| ताकि ये सुख जाये और एक एक बार इनके सूख जाने पर इन्हें ग्राइंडर (grinder) में डालकर पीस लें| आप तुलसी की सूखी पत्तियों के साथ सरसों के तेल का मिश्रण करके दांतों की मालिश भी कर सकते हैं|

नीम का सेवन: बताया जाता हैं कि पुराने समय में जब टूथपेस्ट और टूथब्रश (tooth paste and tooth brush) नहीं होते थे| तब लोग नीम से ही अपने दांतों को साफ किया करते थे| फिर भी उनके दांत एक दम सफ़ेद और चमकीले होते थे| ये लोग नीम की टहनी को तोड़कर दातुन बना लेते थे|

और फिर इसी से अपने दांत को साफ किया करते थे| नीम की दातुन में एस्ट्रिंजेंट और एंटीसेप्टिक (astringent as well as antiseptic) के गुण होते हैं| जिससे दांतों में सफेदी आती हैं और सांसो की बदबू दूर होती हैं| नीम का स्वाद कड़वा होता हैं पर ये आपके दांतों के लिए बिलकुल सही हैं|

सेब का सेवन: सेब में आम्लता होती हैं जो दांतों को सफ़ेद करने के लिए मदद करता हैं| इसीलिए आप सेब का सेवन करें सेब को आप ऐसे ही खा सकते हैं| सेब को आप अच्छे से चबाकर खाएं इसमें तंतु की अच्छी मात्रा होती हैं जो दांतों को सफ़ेद करने में मदद करता हैं|

हाइड्रोजन पेरोक्साइड का उपयोग: हाइड्रोजन पेरोक्साइड में विरंजन एजेंट पाया जाता हैं| जो पीले दांतों की समस्या दूर करने में बहुत हद तक मदद करता हैं| आप माउथवाश खरीदें तो यह ध्यान दें की इसमें हाइड्रोजन पेरोक्साइड शामिल हो| कुल्ला करते समय इसे ना निगलें|

नींबू का उपयोग

केले के छिलके का उपयोग: आमतौर पर हम केले को खाते हैं| लेकिन उसके छिलके को फेक देते हैं क्योकि हमें ये पता नहीं होता हैं कि ये छिलके भी हमारे लिए उपयोगी होते हैं| केले के साथ साथ केले के छिलके भी पोषक पदार्थों से भरपूर होते हैं| आपको केले के छिलकों से भी कई लाभ मिल सकते हैं|

केले के छिलके में पोटैशियम, मैग्नीशियम और मैंगनीज़ (potassium, magnesium and manganese) जैसे पोषक पदार्थ मौजूद होते हैं| इन पदार्थों की मदद से आपके दांत चमकदार बन जाते हैं| केले का थोड़ा सा छिलका लें और इसके सफ़ेद भाग को दांतों पर 2 से 3 मिनट तक घिसें|

इसके बाद आप 15 मिनट तक ऐसे ही छोड़ दें और सामान्य टूथपेस्ट से दांतों को साफ़ कर लें| और 2 से 3 हफ़्तों तक ऐसा करने पर आपको परिणाम दिखना शुरू हो जाएंगे| और कुछ ही समय में आपके दांतों का रंग बदल जायेगा|

दही का उपयोग: हमारे दोंतो को कैल्शियम और फॉस्फोरस की जरुरत होती हैं| आप दूध और दही को मिलाकर एक मिश्रण बना लें| और इसे अपने दांतों पर लगाये| इससे आपके दांतों का पीलापन तो दूर होगा ही साथ ही दांतों में इनेमल में खनिज की मात्रा दोबारा से भर जाएगी|

पीपल की जड़ का उपयोग: पीपल की जड़ का उपयोग कई दवाओ में किया जाता हैं| और इस पेड़ की पूजा भी की जाती हैं पीपल का पेड़ हर मंदिर में पाया जाता हैं| यहाँ ऐसा माना जाता हैं कि पीपल के पेड़ में भगवान का वास होता हैं| दांतों की समस्या को दूर करने के लिए पीपल के पेड़ की जड़ काफी कारगर साबित होती हैं|

इससे उपयोग से आपको प्राकृतिक रूप से चमकदार दांत प्राप्त होते हैं| आप इसे एक टूथब्रश की तरह भी इस्तेमाल में ला सकते हैं| पीपल की जड़ लेकर दांत साफ़ करें और इसे फेंक दें| इनके एस्ट्रिंजेंट गुण दांतों को चमकदार और स्वस्थ बनाने में काफी फायदेमंद सिद्ध होते हैं|

ऑइल पुलिंग का उपयोग: अपने दांत को मोती की तरह चमक देने के लिए आप ऑइल पुलिंग का इस्तेमाल करें| दांतों को चमकदार बनाने के अलावा यह बैक्टीरिया, जिंजीवाइटिस (gingivitis) और प्लाक को निकालने में ही काफी हद तक मददगार होता हैं|

मरगोसा का उपयोग: आप सोच रहे होंगे ये क्या हैं| मरगोसा एक प्राकृतिक जड़ीबूटी हैं| ये दांतों से सांसो की बदबू और दांतों के पीलेपन को दूर करने में सहायक होती हैं| इसका उपयोग Beauty Tips के लिए भी किया जाता हैं| क्योकि इस जडीबुटी में एंटीसेप्टिक गुण होते हैं|

सिट्रस फल का उपयोग: सिट्रस फलो की एक खास बात होती हैं| कि इनमे रंगत और गोरा करने का गुण पाया जाता हैं| इसिलए इनका इस्तेमाल दांतों के पीलेपन को दूर करने के लिए भी किया जाता हैं| सिट्रस फलो में आप मुख्य रूप से संतरा, नीम्बू, अनानास आदि लें सकते हैं|

आप इन में से किसी भी एक फल को लें और उसका एक टुकड़ा काट लें| और फिर इसे अपने दांतों पर रगड़े| इससे आपके दांतों में सफेदी आती हैं| ऐसा भी जरुरी नहीं हैं कि आप इन फलो को खाए आप बिना खाए भी रगड़ कर इनका इस्तेमाल कर सकते हैं|

किशमिश का उपयोग: रसोई में किशमिश को बहुत उपयोग किया जाता हैं| इसे मिट्ठे में माना जाता हैं| इसके थोड़े से इस्तेमाल से आप अपने पीले दांतों को सफ़ेद कर सकते हैं| आप जब भी फ्री रहे या आपको समय मिले तो आप किशमिश को लें और इसे चबा कर खाए| इससे आपके मुंह में अन्दर लार बनेगी और प्लाक पूरी तरह से ख़त्म हो जायेगा|

लकड़ी के कोयले का उपयोग: आप रोज सुबह उठकर टूथपेस्ट करते हैं| और आप टूथपेस्ट में बाजार में मिलने वाले पेस्ट का इस्तेमाल करते हैं| तो आप इसके इस्तेमाल को बंद कर दें| और इसकी बजह आप लकड़ी के कोयले की पाउडर को पेस्ट में मिलाकर दांत घिसें| ऐसा दिन में 2 बार इस्तेमाल करने से दांत चमकने लगेंगे|

च्युइंग गम का सेवन: कही लोगों को हमने च्युइंग गम खाते देखा हैं| वे दिन में कही बार इसका इस्तेमाल करते हैं क्योकि उन्हें पता होता हैं| कि च्युइंग गम को चबाने से दांतों और मसूड़ों की एक्सरसाइज ही नहीं होती बल्कि दांतों को सफ़ेद करने के के लिए भी लाभदायक भी होती हैं|

इसमें दांतों के पीलेपन को दूर करने के गुण भी पाए जाते हैं| जो दांतों के पीलेपन को हटाते हैं और साथ ही चमकीले भी बनाते हैं| यदि आपके पास और सभी तरीको को करने का समय नहीं हैं| तो आप इस आसान से तरीके से आप आपने दांतों को साफ कर सकते हैं|

दांतों को पीलेपन से बचाने के तरीके (Teeth Whitening Tips In Hindi)

रोजाना नियमित रूप से ब्रश करें|
शराब, तम्बाकू आदि का सेवन ना करें|
ज्यादा ठंडी चीजो का सेवन ना करें|
दांतों की देखभाल अच्छे से समय समय पर करते रहें|