ऋषि मुनियों का बताया प्राचीन नुस्खा जो नामर्द को भी मर्द बना दे

क्या आप जानते है प्राचीन में लोगों की कई सारी संताने हुआ करती थी जैसे रावण के और महाभारत में एक व्यक्ति जिसका नाम धृतराष्ट्र था जोकि जन्म से अँधा था लेकिन उस व्यक्ति के एक सौ से ज्यादा पुत्र थे और सभी बहुत ही बलशाली थे. और पुराने राजे महाराजाओं के कितने सारे विवाह होते है लगभग हर एक राजा के 20 से लेकर 120 तक रानियां हुआ करती थी. राजाओं के साथ उनकी रानियां भी रहती थी और राजा अपनी हर एक रानी के सम्भोग कर लेता था. इतनी सारी रानियों के साथ सम्भोग कर पाना कैसे संभव था. प्राचीनकल में ऋषि मुनियों ने कई तरह के संजीवनी जड़ी बूटियों के द्वारा सम्भोग के समय के बढ़ने के और मर्दो के मर्दाना शक्ति को और उनकी सम्भोग करने की शक्ति को बढ़ने के लिए कई प्रकार की जड़ी बूटियों का प्रयोग किया करते थे जिससे उनकी सम्भोग करने की शक्ति कम नहीं होती थी और वे अपनी रानियों से लगातार कई घंटों तक सम्भोग की क्रिया को करते रहते थे.

और इतना ही नहीं यह केवल सम्भोग की शक्ति ही नहीं बल्कि पुरषों की पुरषार्थ को बढ़ाने के लिए भी इन्ही जड़ी बूटियों का उपयोग करते है.यदि आप भी सम्भोग के द्वारा जल्दी ही ढीले पड़ जाते है और आप भी अपनी बीबी को आपकी रानी को ठीक तरह से सम्भोग का मज़ा नहीं दे पाते है या फिर आपको भी लगता है आपका वीर्य जल्दी ही निकल जाता है और इस वजह से आप लम्बी समय तक सम्भोग नहीं कर पाते है. तो शर्माना छोड़ दीजिये क्योंकि आयुर्वेद और प्राचीन ऋषि मुनियों के द्वारा बताएं जड़ी-बूटियों के द्वारा अपनी मर्दानगी को बढ़ा सकते है आयुर्वेद का सबसे सफल एवं महान सम्भोग शक्ति का उपाय है जो भी पुरुष इस उपाय को करता है और किसी भी औरत के सम्भोग करता है वह उसे छोड़ के कंही नहीं जाएगी. हमेशा उसके साथ ही सम्भोग करना चाहेगी.

शारीरिक ताकत बढ़ाने के उपाय

ये बहुत ही आसान पर बहुत रहस्मय तरीका का जिसके इस्तेमाल खुद को एक बेहतर और दमदार सम्भोग करने वाला पुरुष बना सकते है. यदि कोई पुरुष आपने पुरषार्थ को बढ़ाना चाहता है तो इस प्राचीन और लाभकारी तरीके को जरूरी करें और इस उपयोग को करने के लिए कुछ विशेष नहीं करना है. इस उपाय को करने हेतु आपको कुछ जड़ी बुटिया लेकर आनी है जो आसान घर के आस पास मौजुद होती है लेकिन इनके गुणों के बारे में हमें कभी पता ही नहीं होता है. इस रहस्मय मिश्रण को बनाने के लिए आपको इस मात्रा में इन जड़ी बूटियों को लेना है जो नीचे लिखी हुयी है.

जैसे मूसली सफेद -35ग्राम.मूसली काली -55ग्राम, बहमन लाल -37ग्राम, बहमन सफेद -37ग्राम, सालम पंजा -५२ग्राम,सालम मिश्री -32ग्राम, शुद्ध कौंच बीज -35ग्राम, बीज बंद -45ग्राम, पीला सतावर -32ग्राम, अस्वगंधा -30ग्राम, उंटंगन, बीज -25ग्राम, सालम गत्ता -20ग्राम, रूमी मस्तगी – 25ग्राम, अकरकरा -25ग्राम, सिंघाड़ा गिरी -25ग्राम, विधारी कंद -35ग्रामजायफल -35ग्राम, दालचीनी -35ग्राम, लौंग -35ग्राम, जाफरन -27ग्रामरस सिंदूर -लगभग 32ग्राम, शुद्ध शिलाजीत -60ग्रामबंग भस्म -40ग्राम, मोती भस्म -25ग्राम, स्वर्ण भस्म एवं मासेप्रवाल पिष्टी -40ग्राम, सिध्मकरद्धवज -20ग्राम, लौह भस्मसहस्त्रपुस्तति -30ग्राम, अब्रक भस्म सहस्स्त्रपुस्तति -30ग्राम, उड़द की देसी घी में भुनी हुई दाल -175ग्राम इन सबको दी गई मात्रा में लेना और इन बूटियों व सभी औषधियों को धुप में सुखा लेना.

इन सबके सुख जाने फिर इस इनका पीसकर एक अच्छा चूर्ण बन लें.जब ये चूर्ण बन कर पूरी तरह से तैयार हो जाए तो इस चूर्ण को बढ़िया तारीखे से साफ़ करके इसे छान लेना है और फिर इस चूर्ण रोज सुबह खाने से पहले और रात्रि के भोजन के बाद में इस चूर्ण का प्रयोग दूध के साथ करें और जब ये चूर्ण बन कर तैयार हो जाए तो उस चूर्ण का इस्तेमाल गर्म दूध के  साथ मिलाकर .इसका सेवन करना है. यह बहुत ही आसान और कारगर उपाय है. इस चमत्कारी रहस्य को जाने के बाद यदि आप इसका सेवन करते हो तो आपके कई सारे शरीर से सम्बंधित लाभ होंगे जिससे आपका मर्दाना शक्ति भी बढ़ जाएगी और इसके प्रयोग से आपको कई लाभ होंगे जैसे की इस दवा से मर्दाना कमजोरी,शीघ्रपतन,शुक्राणु की कमी, लिंग का टेढापन, संभोग की इच्छा न करना वीर्य का जल्दी निकल जाना, हस्तमैथुन की वजह से, सुस्ती, इन्द्रिय का शिथिल न हो पाना, लंबे समय तक, व वृद्ध अवस्था को रोकने इत्यादि में बहुत ही ज्यादा लाभकारी है.

हर ब्यक्ति किसी न किसी बुरी संगत में जरूरत फसंता है. और ज्यादातर बचपन में बच्चे होने के कारण गलत सही का भेद न होने के कारण गलत लोगों के बताये जाने पर हस्तमैथुन करना शुरू कर देते है जिससे लिंग पर और शरीर पर बहुत ही बुरा असर पड़ता है और जिसके कारण लिंग भी छोटा और पतला हो जाता है. जिसके कारण शीग्र स्खलन की समस्या भी बहुत ज्यादा हो जाती और इसका असर जवानी में देखने को मिलता है. इन सभी समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए आप को ऊपर दिए गए रहस्मय चूर्ण को बनाकर उसका उपयोग करना है इसके लगातार उपयोग से आपका लिंग 1:30 से 2 इंच लंबाई बढ़ जाएगी और लिंग की मोटाई भी बढ़ जाएगी. आपके वीर्य को गाढ़ा करके और ज्यादा मात्रा में बनाकर आपका सम्भोग करने का टाइम 15 से 20 मिनट बढ़ जायेगा.

ये चमत्कारी नुस्खा आपके लिंग को लोहे की तरह मजबूत करेगा. और इसका प्रयोग 18 साल से लेकर 70 साल तक कोई भी पुरुष कर सकता है और इसका भी दुष्परिणाम देखने को नहीं मिलता है. यह बहुत सरल और सबसे पुराना नुस्खा का जिसका उपयोग प्राचीन काल से होता चला आ रहा है और ये पूरी तरह से आयुर्वेदिक है है इस दवा को बनाते समय एक बात का बहुत ध्यान रखे की जड़ी बूटिया ज्यादा पुरानी न हो और वे सभी किसी भी तरह से ख़राब हालत में न मतलब बढ़िया हो.इस प्रयोग को करने से निश्चित ही आपकी मर्दानगी कुछ ही दिनों में लौट आएगी और अपनी बीबी हो प्रेमिका या आपकी रानी उसको खुश कर पाएंगे और जब भी सम्भोग करेंगे तो एक जोश आपके भीतर देर तक भरा रहेगा.