Copper-T Benefits And Side Effects In Hindi | कॉपर टी के फायदे और नुकसान

Copper T Side Effects In Hindi: कॉपर टी का इस्तेमाल करने वाली महिलाओं को हमेशा बैचेनी रहती है कि क्या Copper T Safe है? या Copper T के क्या Benefits और Side Effects हैं| ख़ासतौर पर ऐसी लड़कियाँ जिनकी नयी नयी शादी हुयी होती है, या वे पहली बार माँ बनती हैं| आज इस पोस्ट में आपको Copper T Side Effects से जुड़े सारे सवालों के जवाब मिल जायेंगे|

आजकल सभी लोग अपने आप को सक्सेसफुल बनाने के होड़ में लगे हुए हैं| शिक्षित समाज में लोग जब आपस में शादी करते हैं, तो उन्हें बहुत जल्दी संतान की कामना नही होती है|

लेकिन सम्भोग को त्याग नही सकते, इसलिए कई सारे दम्पति अनचाहे गर्भ से बचने के लिए कई तरह के गर्भ निरोधक तरीके प्रयोग करते रहते हैं| इन्हीं में से एक है Copper T जिसके बारे में हम आज बात कर रहे हैं|

ये भी पढ़ें: अनियमित मासिक धर्म और महावारी लाने के उपाय

All About Copper T | कॉपर टी के बारे में जानकारी

अनचाहे गर्भ को रोकने के लिए आजकल कई सारे विकल्प हैं| अधिकतर युवतियाँ या महिलाएं अनचाहे गर्भ से बचने के लिए किसी भी टेबलेट का इस्तेमाल ज्यादा करती हैं|

लेकिन वहीँ कुछ महिलाएं कॉपर टी का इस्तेमाल करती हैं| हालांकी Copper T का प्रचलन भी काफी पुराना हो चला है| इस छोटे से उपकरण की मदद से कई सारी महिलाएं अपने अनचाहे गर्भ को रोकने में उपयोग करती हैं| क्योंकि ये बहुत ही प्रभावी उपाय है.

कॉपर टी लगाने की विधि

लेकिन कुछ महिलाओं में कॉपर टी को लेकर डर रहता है, कि ये सुरक्षित है? या नहीं| इसके कोई दुष्परिणाम तो नही हैं? या फिर Copper T कितने तक काम करती है|

कॉपर टी का इस्तेमाल कैसे करते हैं| इस तरह की सभी आशंकाएं को दूर करने के लिए एक बहन ने हमें ये पोस्ट लिख भेजी है|

ये भी पढ़ें: कष्टदायक या रूखे पीरियड्स के उपाय

कॉपर टी क्या है? और इसका इस्तेमाल कैसे करें | Copper T Kya Hoti Hai

कई महिलाएं जो अनचाहे गर्भ से बचने के लिए Copper T का प्रयोग करती हैं| इसकी एक वजह ये भी है कि गर्भ निरोधक गोलियों का सेवन करने से महिलाओं के स्वास्थ पर बहुत बुरा असर पड़ता है|

गर्भ धारण रोकने के लिए कॉपर टी का इस्तेमाल सबसे बेहतर उपाय है| कॉपर टी प्लास्टिक और तांबे से बने होती है| ये अंग्रेज़ी के शब्द T आकार जैसा एक छोटा सा उपकरण होता है| जैसा की आप नीचे चित्र में देख रहे हैं|

कॉपर टी प्राइस

इसको योनी के रस्ते महिला के गर्भाशय में लगाया जाता है| इसका इस्तेमाल पहली बार माँ बनने के बाद किया जाता है| जब महिला को लगे कि उसे फिर से गर्भ धारण करना है, तो वो इसे आसानी से निकाल भी सकती है|

ये परमानेंट तरीका नही है परन्तु इसकी मदद महिलायें लम्बे समय तक अनचाहे गर्भ को रोक सकतीं हैं| और सबसे खास बात ये है कि इसका मूल्य बहुत ही कम होता है| जो अन्य गर्भ निरोधी उपाय की तुलना बहुत सस्ता और प्रभावी है|

एक कॉपर टी सामान्य, साधारण मूल्य वाली 2 साल तक काम करती है| वहीं दूसरी और अच्छी क्वालिटी की Copper T, 5 से लेकर 10 साल तक के लिए काम करती है| अगर आपको इस्तेमाल करना हो तो, हमेशा अच्छी क्वालिटी की ही सुरक्षित कॉपर टी का इस्तेमाल करें|

ये भी पढ़ें: योनि की खुजली के घरेलू उपाय

कॉपर टी Price | Copper T Price In India

कॉपर टी का मूल्य उसकी क्वालिटी पर निर्भर करता है| अच्छी क्वालिटी की कॉपर टी Price 400 से 500 रूपए तक है| जबकी सस्ती और लो क्वालिटी की कॉपर टी आपको 200 से 250 रूपए तक ऑनलाइन या बाज़ार में मिल सकती है|

क्या कॉपर टी सुरक्षित है ? Copper T Ke Bad Bhi Pregnancy Rah Sakti Hai Kya

एक सर्वे के दौरान कुछ महिलाओं से पूछा गया कि कॉपर टी के विषय में महिला डॉक्टर्स क्या सलाह देती हैं| क्या इसे इस्तेमाल करना सुरक्षित है?

तो उनके अनुसार महिला रोग विशेषज्ञ का मानना है कि गर्भ को रोकने के लिए कॉपर टी का इस्तेमाल सबसे बेहतर है| लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दें ये गर्भ निरोधक गोलियों और अन्य तरीकों से सबसे ज्यादा सुरक्षित उपाय है|

इसके इस्तेमाल के बाद यदि महिला गर्भधारण करना चाहे तो वो आसानी से कर सकती है| क्योंकि कॉपर टी में हार्मोन नही होते, और ये यह महिलाओं के मासिक धर्म चक्र या पीरेड्स को भी इफेक्ट नही करती है|

ये भी देखें: पीरियड्स मिस होने पर ये घरेलू उपाय करें

जबकि गर्भ नियंत्रण के कई अन्य तरह के हार्मोनल विकल्प मासिक धर्म को अनियमति कर देते हैं| या महिला की प्रजनन क्षमता पर बुरा असर डालते हैं|

मल्टीलोड कॉपर टी

इस उपकरण को गर्भ निरोधक के रूप में इस्तेमाल किया जाता है| और इसे सबसे कारगर भी माना जाता है, क्योंकि इसकी समयावधि बहुत ज्यादा है| इसे दस साल तक के उपयोग के लिए बनाया गया है|

लेकिन महिलायें इसे अपने गर्भाशय में लगातार पांच साल तक लगा सकती हैं| और जब भी, गर्भ धारण करना हो तो आसानी से निकाल भी सकती हैं|

कॉपर टी कार्य विधि क्या है?

इस वेबसाइट में दी गयी उपरोक्त जानकारी के अनुसार आपको अच्छी तरह समझ आ गया होगा कि कॉपर टी क्या है| लेकिन Copper T  काम कैसे करती है, इस बारे में भी आपको सम्पूर्ण जानकारी दी जाएगी|

कॉपर टी को गर्भाशय में लगाने के बाद ही इसका काम शुरू हो जाता है| T के आकार में बने इस उपकरण के चारों ओर लिपटा कॉपर गर्भाशय को प्रभावित करता है, जिससे महिला गर्भधारण नहीं कर सकती है|

इस उपकरण का कॉपर गर्भाशय ग्रीवा और गर्भाशय के अन्य तरल के साथ मिलकर उसमें कॉपर यानि तांबे की मात्रा को बढ़ा देता है| कॉपर की अधिक मात्रा हो जाने के कारण यह द्रव शुक्राणु नाशक के रूप में काम करता है|

इस वजह से गर्भाशय में पहुंचने वाले वीर्य के शुक्राणु इसके संपर्क में आने के बाद नष्ट हो जाते हैं| और महिला को गर्भ नहीं ठहरता|

शुक्राणुओं के नष्ट होने से महिलाओं में ओवुलेशन के तहत बनने वाला अंडा निषेचित नहीं हो पाता है| और इस कारण महिला प्रेग्नेंट नहीं हो पाती है|

कॉपर टी सुरक्षित है

विशेषज्ञों के अनुसार, यह 99 प्रतिशत तक प्रभावी होती है, कॉपर टी गर्भनिरोधक के अन्य तरीकों में सबसे प्रभावी तरीका है| यदि आप प्रेगनेंट होना चाहती हैं तो इस कॉपर को निकाल दें|

लेकिन कॉपर टी की समयावधि उसकी क्वालिटी पर निर्भर होती है| यदि वो अच्छी क्वालिटी की है तो, आप इसे पांच से लेकर दस सालों तक इसका इस्तेमाल कर सकती हैं| डॉक्टर्स के अनुसार इसे केवल पांच साल तक इस्तेमाल में लाना चाहिए|

ये भी देखें: ढीले और बड़े स्तन को छोटे और सुडौल बनायें

गर्भाशय में कॉपर टी कैसे लगाई जाती है? How To Use Copper T | इस्तेमाल करने की विधि क्या है?

कॉपर टी के दो हिस्से ऊपर के तरफ और एक हिस्सा नीचे के ओर होता है| ये दिखने में लगभग टी के आकार की होती है| और इसके उपरी दोनों ऊपरी छोरों को नीचे की ओर झुकाकर उसको एक पतले पाइप में डाल दिया जाता है|

इसके बाद इस पाइप को महिला की योनि से गर्भाशय में डाल दिया जाता है| फिर उस पाइप को धीरे धीरे बाहर की तरह खिंचा जाता है|

और जब पाइप बाहर निकाल लिया जाता है, तो कॉपर टी का उपरी दोनों छोर खुलकर अपने सही आकार में फिट हो जाता है|

यदि किसी महिला की योनी बड़ी है, या फिर छोटी है| तो कॉपर टी को डॉक्टर आपके गर्भाशय या योनी के आकार के अनुसार कॉपर टी के आकार को चुनते है|

कॉपर टी कैसे डालते हैं

और ये एक बार सही तरीके से यदि योनी में फिट हो जाये तो सालों तक बिना हिले रहते है| लेकिन इस का इस्तेमाल आप बिना डॉक्टर्स की सलाह लिए न करें|

कॉपर टी निकालने के लिए भी आप डॉक्टर के पास ही जाएँ क्योंकि इस तरह के उपकरणों के इस्तेमाल के लिए अनुभव की आवश्यकता होती है|

ये भी देखें: स्तन बढ़ाने के घरेलु उपाय

कॉपर टी कैसे निकालें? How To Use Copper T

यदि आप कॉपर टी को अपने गर्भाशय से निकलना चाहती हैं, तो इसे निकालने के तरीके भी इस पोस्ट में हैं|

कॉपर टी निकालने का सबसे बेहतर और आसन तरीका यह है कि  इसको आप अपने डॉक्टर की मदद से निकालें|

लेकिन गर्भ धारण करने के लिए आपको कम सेकम एक महीने तक इंतज़ार करना होगा| तभी आपकी योनी और गर्भाशय गर्भाधारण करने लायक  हो पायेगा.

कॉपर टी कैसे निकाले

इस कॉपर टी की संरचना टी नुमा स्प्रिंग के सामान होती है, जिसके नीचे के छोर पर एक बेहद पतला धागा होता है| जिसे आप धीरे से खींचती हैं, तो ऊपर के दोनों हिस्से सिकुड़ कर एक रेखा में सीधे हो जाते है|

इसके बाद कॉपर टी को योनी से बाहर निकला जा सकता है| ध्यान रहे इस धागे को खींचने के लिए आपको चिमटी का इस्तेमाल करना होगा|

क्योंकि डॉक्टर्स भी चिमटी का ही इस्तेमाल करते हैं| इस कॉपर टी को निकलते समय योनी में मामूली दर्द होता है| कुछ महिलायों को ब्लीडिंग यानी खून आने जैसी समस्या भी हो जाती है|

इस वक़्त योनी से ख़ून मासिक धर्म की तरह नही निकलता है| इसे निकलते समय खून निकलना बेहद आम बात है, इसको लेकर ज्यादा चिंतित न हों|

कॉपर टी लगाने के फायदे

इस उपकरण का इस्तेमाल करने से कई सारे फायदे है और ये सबसे ज्यादा प्रभावी तरीका है गर्भानिरोध करने के लिए|

  • कॉपर टी में हार्मोन नहीं होता
  • हानीकारक गर्भनिरोधक दवायों का दुष्प्रभाव नहीं होता
  • केमीकल और रसायन रहित सुरक्षित है
  • लम्बे समय तक गर्भधारण कर सकते हैं
  • सबसे सस्ता और सुरक्षित उपाय माना जाता है
  • गर्भाशय में संक्रमण होना

ये महिलायों को तनाव मुक्त करने सबसे आसान तरीका है, क्योंकि अनचाहे गर्भ को रोकने के लिए महिलाएं तनाव में आ जाती हैं|

लेकिन इसके लम्बे समय तक प्रभावी होने के कारण ये ज्यादा लाभदायक है| इसके इस्तेमाल करते समय आप अपनी मर्ज़ी के अनुसार प्रेग्नेंट हो सकती हैं|

इस विधी से सबसे ज्यादा लम्बे समय तक गर्भनिरोध किया जा सकता है| जो सबसे सस्ता होने के साथ-साथ सुरक्षित उपाय भी है|

कॉपर टी लगाने के नुकसान

  • गर्भाशय से ख़ून निकलना
  • मासिक धर्म के दौरान पेट के निचले हिस्से में ऐंठन होने की समस्या
  • योनी में संक्रमण का ख़तरा
  • कॉपर टी का अचानक बाहर निकलना
  • यौन संक्रमण का ख़तरा बढ़ जाता है

हर वस्तु जो प्रकृति या विज्ञान ने बनाई है| उसके फायदे भी हैं, और नुकसान भी| उसी तरह कॉपर टी गर्भ निरोध के लिए सबसे अच्छी खोज भी है| लेकिन इसके ज्यादा इस्तेमाल के भी नुकसान भी हो सकते हैं|

गर्भाशय से ख़ून निकलना

कई महिलाओं को कॉपर टी लगाने के बाद बार-बार रक्त स्त्राव होने की समस्या का सामना करना पड़ता है| सामान्यतः यह समस्या महिलाओं में कॉपर टी लगाने के शुरूआती दौर में सामने आती है|

इसके अलावा कुछ महिलाओं को मासिक धर्म के दौरान पेट के निचले हिस्से में ऐंठन होने की समस्या हो जाती है|

मासिक धर्म में होने वाली सामान्य ऐंठन से यह परेशानी अलग होती है. इस दर्द में आप दर्द निवारक दवाओं का सेवन कर सकती हैं|

कॉपर टी से कोई नुकसान

योनी में संक्रमण होना

कुछ महिलाएं ऐसी होती है जिन्हें धातुओं यानी मेटल से एलर्जी होती है, या फिर तांबे से भी एलर्जी होती है| उनके शरीर में कॉपर टी लगाने से योनी या गुप्तांग में रैशेज या खुजली आदि जैसी समस्या हो सकती है|

सभी महिलाओं में ये एलर्जी की दिक्कत नही होती| बहुत कम महिलाओं को इससे प्रभावित होते देखा गया है|

यदि आप संक्रमण को दूर करना चाहती हैं| संक्रमण से बचने का सबसे बेहतर उपाय यही है, इस कॉपर टी निकाल दें|

लेकिन आप चिंता न करें क्यूंकि अन्य गर्भ निरोधक के तरीकों का इस्तेमाल किया जा सकता है| लेकिन वो इसके अपेक्षा कुछ महंगे हो जाते हैं|

कॉपर टी का अचानक बाहर निकलना

कुछ महिलाओं ने इस कॉपर टी को लेकर अपनी समस्या जताई है| और उन्होंने बताया है कि कॉपर टी खुद-ब-खुद योनी से बाहर आ जाती है|

कॉपर टी लगाने के शुरू के कुछ दिनों तक ही ऐसी समस्या सामने आती हैं| बच्चे को जन्म देने के तुरंत बाद या पहले कभी प्रेग्नेंट न होने वाली महिलाओं में इस तरह की परेशानी देखने को मिलती है|

गर्भाशय में समस्या होना

कई बार कॉपर टी को लगाने के दौरान महिलाओं के गर्भाशय में खरोंच लग जाती है| इसके अलावा कुछ मामलों में महिलाओं के गर्भाशय में गंभीर चोट भी आ जाती है|

जिसके कारण गर्भाशय की परत क्षतिग्रस्त हो जाती है या उसमें से खून आने लगता है| इस स्थिति में यदि कॉपर टी को तुरंत नहीं निकाला जाए तो यह गर्भाशय में गंभीर संक्रमण का कारण बन सकती है|

कॉपर टी से यौन संक्रमण से बचाव नहीं होता

कॉपर टी को लगाने के बाद महिलाओं में यौन संक्रमण होने का डर ज्यादा होता है| वो इस दौरान यौन संक्रमण का शिकार हो सकती हैं|

इसलिए कॉपर टी लगाने के बाद भी यौन संक्रमणों से बचाव करना बेहद जरूरी होता है| अपने पार्टनर को कंडोम उपयोंग करने की सलाह दें|

Leave a Reply