Knee Pain Treatment In Hindi

Knee Pain Treatment In Hindi: knee pain को हिंदी में घुटनों का दर्द कहा जाता हैं. जैसा कि हम देखते हैं. कि आज के समय में सभी ज्यादातर लोग घुटनों के दर्द से परेशान रहते हैं. ये शरीर की सबसे बड़ी और जटिल समस्या हैं. घुटनों का जोड़ शारीर के लिए बहुत अहमं होता हैं.

Knee Pain Treatment

यह एक सायनोवियल जोड़ (Sinovial Joint) का उदाहरण हैं. इस जोड़ में मुख्यत चार हड्डियों, लगभग 15 मांसपेशियों के अलावा एक और महत्त्वपूर्ण चीज़ होती हैं. जिसे कारटीलेज (Cartilage) कहते हैं. दैनिक जीवन में चलने-फिरने, चढ़ाव चढ़ने, सैर करने, व्यायाम करने. व्यायाम करने से घुटनों के जोड़ों में स्थित कारटीलेज का क्षय होता हैं.

घुटनों में दर्द होना ज्यादातर महिलाओ में होता हैं. पुरुषों में ये समस्या कम देखने को मिलती हैं. इसका कारण हैं. महिलाओं में माहवारी बन्द होने पश्चात् स्त्री हारमोन ‘इस्ट्रोजन’ का स्राव काफी कम हो जाता हैं. जिससे शारीर वज़न बढ़ने व आस्टियोपोरोसिस व कार्टिलेज क्षरण की प्रक्रिया तेज हो जाती हैं.

Knee Pain Treatment In Hindi

घुटने का दर्द अस्थिरज्जु (Ligament) के फटने से भी होता हैं. हमारी रोजमर्रा की गतिविधियां जैसे चलना, दौड़ना, उछलना या सीढ़ियां चढ़ने से घुटने. (Ghutne ka Dard) पर बहुत ज्यादा दबाव पड़ता हैं. हर दिन के दबाव से घुटने की अस्थिरज्जु में टूट-फूट हो जाती हैं जिससे भी जोड़ों का दर्द होने लगता हैं.

कही बार हम देखते हैं कि जिन लोगों को घुटने का दर्द होता हैं. वे लोग इसे आमतौर पर लें लेते हैं जिसके कारण ये दर्द बढ़ता चला जाता हैं. और ये कई कारणों से होने लगता हैं जिसके लिए दर्द के अनुसार इलाज किया जाता हैं. कुछ लोगों के जोड़ों और मांसपेशियों में दर्द होता हैं तो कुछ लोगों के हड्डियों में दर्द होता हैं.

(Knee Pain Treatment In Hindi) घुटनों में दर्द होने के कारण

रुमेटोइड आर्थरिटिस (Rheumatoid Arthritis): ये एक ऐसा रोग हैं. जिसमे रुमेटोइड आर्थरिटिस जिसे संधिशोथ भी कहते हैं. जिसमें हमारे शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली खुद हमारे शरीर को नुक्सान पहुचाने लगती हैं. इस तरह यह रोग जोड़ों के ऊपर बनी एक झिल्ली जैसी परत (Synovium Tissue) को भी नुकसान पहुंचा हैं.

इस रोग में सबसे पहले छोटे जोड़ प्रभावित होते हैं. जैसे विशेष रूप से उँगलियाँ, हाथ, पैर की उंगलियों और अपने पैरों के जोड़ आदि. आगे चल कर बड़े जोड़ जैसे कलाई, कोहनी, कंधे, घुटने और कूल्हों भी ख़राब हो सकते हैं. घुटने का जोड़ ख़राब होने पर उसमें दर्द और सूजन होना जैसे लक्षण दिखने लगते हैं.

ऑस्टियोआर्थराइटिस (Osteoarthritis): ऑस्टियोआर्थराइटिस, गठिया का सबसे आम रूप है. जो दुनिया भर के लाखों लोगों को प्रभावित करता हैं. ये रोग होने का मुख्य कारण होता हैं. जब हड्डियों के सिरों पर सुरक्षात्मक कार्टिलेज परत समय के साथ घिस जाती हैं. और आगे चलकर यह रोग जोड़ों की हड्डियों को भी प्रभावती करता हैं.

यदि इसका इलाज सही समय पर नहीं कराया गया. तो फिर इसको ठीक करना मुश्किल हो जाता हैं. इसका उपचार सही समय रहते नियंत्रित तो किया जा सकता हैं. परन्तु पूरी तरह ठीक नहीं किया जा सकता हैं. ऑस्टियोआर्थराइटिस के कारण घुटने में दर्द और सूजन की समस्या आम हैं. और रुमेटोइडआर्थरिटिस रोग की ही तरह लक्षण मिलते जुलते हैं.

बर्सितिस (Bursitis): बर्सा श्लेष तरल पदार्थ से भरी एक पतली थैली होती हैं. जो जोड़ों के विभिन्न ऊतकों के बीच घर्षण को कम करने में मदद करता हैं. हमारे घुटने के जोड़ में ऐसे लगभग 11 बरसा होते हैं. घुटने में तेज झटका, घुटने के बल गिरना. या लम्बे समय तक घुटने पर दबाव पड़ने से बरसा में इन्फेक्शन हो सकता हैं.

Knee Pain Treatment In Hindi

बोन ट्यूमर (Bone Tumors): जोड़ों में होने वाले दर्द और सूजन का एक कारण हड्डियों में होने वाला ट्यूमर भी होता हैं. इस रोग से हड्डियाँ कमजोर होकर फ्रैक्चर भी हो सकती हैं. यह रोग एक प्रकार के कैंसर रोग से भी मिलता जुलता है. जिसे ओस्टियोसार्कोमा कहा जाता हैं.

रन्नर्स नी (Runners Knee): दौड़ने वाले खिलाडियों में एक आम समस्या होती हैं. खास तौर पर उन खेलों में जिनमें खिलाडी को घुटना अक्सर मोड़ना पड़ता हैं. जैसे बाइकिंग, कूदना या दौड़ना, यह रोग घुटने में गिरने के कारण हो सकता हैं. घुटने के अधिक इस्तेमाल, या ऐसे व्यायाम जिनमें घुटने पर अधिक दवाब पड़ता हैं.

इनके अलावा भी कुछ रोग हैं जो घुटने में होता है. जैसे नी कैप का उखड़ना (Knee Cap Dislocation), मिनिस्कस टियर (Meniscus Tear)., टेन्डीनिटिस (Tendinitis.), ए सी एल (ACL)चोट, अस्थि-भंग (Patellar Fracture) हैं. जो आमतौर पर घुटनों में होता हैं. और तकलीफ देता हैं.

घुटनों में दर्द होने के लक्षण

  • चलते समय कठिनाई का एहसास होना.
  • घुटने में जकडन या उन्हें मोड़ने या सीधे करने में असमर्था होना.
  • घुटनों पर सूजन का होना.
  • घुटने मोड़ते समय या गति करते समय चटकाने टूटने या कोई अन्य सुनाई देने वाली असामान्य आवाज़.
  • लालिमा और बुखार के साथ दर्द होना.
  • घुमने फिरने में तेज और चुभने वाला दर्द होता हैं.
  • आपके घुटने का दर्द कम ज्यादा हो सकता हैं, परतु रहता हमेशा हैं.

घुटनों के दर्द के लिए घरेलू उपाय (Knee Pain Treatment In Hindi)

अखरोट का उपयोग: आप रोजाना रात को 15 से 20 गिरी अखरोट को भीगा कर सुबह खाली पेट खाये. इससे आपको घुटनों में राहत मिलेगी. ऐसा आप लगातार दो महीने तक करें.

लहसुन का उपयोग: लहसुन की दस कलियां लें और उनके छिकाले को निकाल लें. और 100 ग्राम दूध में मिलाकर पिए.

जामुन का उपयोग: जोड़ो के दर्द के लिए जामुन सबसे अच्छा उपचार होता हैं. ये घुटने के जोड़ो के दर्द के लिए काफी हद तक लाभकारी होता हैं. जामुन के पेड़ की छाल को खूब उबालकर इसका लेप घुटनों पर लगाने से गठिया में राहत मिलती हैं|

बथुआ के पत्ते: बथुआ के ताजे पत्ते दर्द के इलाज में काफी लाभकारी होते हैं. आप बथुआ के ताजे पत्तों का रस आधा कप निकाल लें और सुबह शाम खाली पेट पिए इससे आपको काफी हद तक लाभ मिलेंगा.

अमरुद का उपयोग: अमरुद की 4 से 5 नई कोमल पत्तियों को पीस लें. और उसमे थोडा काला नमक  मिलाकर खाने से जोड़ो का दर्द ठीक हो जता हैं. अमरुद को जोड़ो के दर्द के लिए लाजबाब माना जाता हैं.

सरसों के तेल का उपयोग: एक छोटी सी पैलेट में सरसों के तेल को लें लें. और फिर इसमें 4 से 5 लहसुन की पोती को लेकर डाले. और ठीक से पक जाने तक गरम करें और फिर इससे मालिस करें.

घुटने के दर्द का आयुर्वेदिक इलाज(Knee Pain Treatment In Hindi)

हल्दी: घुटने के दर्द हो या फिर कोई चोट ये तो हमें पता हैं ही. कि हल्दी क्या कम करती हैं उसी प्रकार आज हम आपको हल्दी के एक और गुण के बारे में बताते हैं. आप हल्दी का पेस्ट बना लें और चोट या फिर दर्द के स्थान पर लगाये. इससे आपको बहुत ही जल्द आराम मिल जायेगा.

पेस्ट बनाने के लिए आप सबसे पहले एक छोटा चम्मच हल्दी पाउडर लें. फिर एक चम्मच पीसी हुई चीनी और इसमें आप बुरा या शहद मिला लें. और एक चुटकी चुना मिला लें फिर हल्का सा पानी डालकर इसका पेस्ट बना लें. फिर इसे चोट या दर्द के स्थान पर लगा लें.

सौंठ: सौंठ दर्द का निवारण करने में बहुत ही लाभदायक होती हैं. ये एक दवा के रूप में काम करती हैं. इसकी दवा बनाने के लिए आप एक छोटा चम्मच सौंठ का पाउडर व थोडा सा तिल का तेल लें लें और एक अच्छा गढ़ा पेस्ट बना लें. और फिर दर्द पर लगाये.

योग और व्यायाम

खजूर: सर्दियों के मौसम में रोजाना 5-6 खजूर खाना बहुत ही लाभदायक होता हैं. खजूर का सेवन आप चाहे तो रोज रात के समय 6-7 खजूर पानी में भिगों दें. और सुबह खाली पेट खजूर को धो के खा लें. और साथ ही इसी पानी को भी पी लें.

खूजर के सेवन से केवल घुटने के दर्द में ही राहत नहीं मिलती है. बल्कि जोड़ो के दर्द के लिए लाभदायक होती हैं.

घुटनों के दर्द के दौरान खाने में क्या लेना चाहिए

घुटने के दर्द के दौरान हमें खाने में आर्गेनिक फल, जंगली मछली, आर्गेनिक मेवे. गिरियाँ, नारियल का तेल, एक्स्ट्रा वर्जिन आयल, और ओमेगा-3 अंडे लेने चाहिए.

पालक का सेवन अधिक करना चाहिए क्योकि इसमें ढेर सारे एंटीऑक्सीडेंट होते हैं. जो आपको ओस्टियोआर्थराइटिस और घुटनों के दर्द से दूर रखता हैं. और राहत देते हैं. (Knee Pain Treatment In Hindi)
बादाम, सूरजमुखी का तेल और बीज, सफ्लोवर तेल, हेज़लनट्स, मूंगफली और पालक विटामिन के स्रोत हैं. विटामिन ई अपने शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट गुणों के लिए जाना जाता हैं. इसीलिए इन्हें लेना चाहिए.
मसाले जैसे दालचीनी, धनिये के बीज और हल्दी आदि लेना चाहिए. क्योकि इनमे शक्तिशाली सूजन-रोधी गुण होते हैं.अदरक अन्य प्रभावी मसाले हैं. जो घुटने के दर्द को घटाने में मददगार होती हैं. विटामिन सी से समृद्ध आहार जैसे संतरे, शिमला मिर्च, ग्रेपफ्रूट, स्ट्रॉबेरी एंड ब्रोकोली आदि लें. और विटामिन डी हमें सीधे सूर्य से मिलती हैं. इसलिए हमें सुबह की रोशनी लेनी चाहिए.

घुटनों के दर्द के दौरान खाने में क्या नहीं लेना चाहिए

पशुजन्य वसा और प्रोटीन आदि नहीं लेना चाहिए.

सब्जियाँ जैसे आलू, शिमला मिर्च, बैंगन लाल और हरी मिर्च अधिक मात्रा में नहीं लेना चाहिए.
आपके भोजन में उपस्थित सोडियम और नमक सूजन को और पानी के धारण होने की मात्रा को बढ़ाता हैं. जिससे घुटनों पर दबाव बढ़ता हैं और दर्द होने लगता हैं.
Knee Pain Treatment In Hindi with Yoga-  योग और व्यायाम:-

व्यायाम आपके जोड़ों को जकड़न से दूर करने में मदद करता हैं. और गति को आसान करके और दर्द को कम करके आवश्यक सहयोग प्रदान करता हैं. वे व्यायाम जो घुटने के क्षेत्र को राहत देते हैं. और मजबूती प्रदान करते हैं.

हेमस्ट्रिंग स्ट्रेचेस.
नी टू चेस्ट एक्सरसाइजेज.
क्वाड्रीसेप्स स्ट्रेचेस.
फॉरवर्ड बेंड.
चेयर स्क्वेट.
काफ रेज.

घुटने के दर्द के लिए कुछ लाभकारी योग को आपको आराम लीलने में सहायक होते हैं.

योद्धासन.
ताड़ासन.
मकरासन.
वीरासन.

HealthTipsInHindi is now Officially in English, Go to Viral Home Remedies For Latest Health Tips , Remedies and Treatments in English